आज से तीन महीने के लिए बंद हुआ सतपुड़ा टाइगर रिजर्व

18 से 30 जून तक मढ़ाई घूमने के लिए सिर्फ 247 पर्यटक ही पहुंचे।

By: KRISHNAKANT SHUKLA

Published: 01 Jul 2020, 07:16 AM IST

होशंगाबाद. सतपुड़ा टाइगर रिजर्व के मढ़ाई स्थित पार्क को बुधवार से तीन माह के बंद कर दिया गया है। इस दौरान मढ़ाई में पर्यटकों की आवाजाही के लिए पूरी तरह से बंद रहेगी। बारिश में हर साल पार्क को 1 जुलाई से 30 सितंबर तक बंद किया जाता है। 1 अक्टूबर को पर्यटकों के लिए खोला जाएगा। सतपुड़ा टाइगर रिजर्व होशंगाबाद के संचालक एसके सिंह ने 18 से 30 जून तक मढ़ाई घूमने के लिए सिर्फ 247 पर्यटक ही पहुंचे। इसमें से 28 पर्यटक मंगलवार को मढ़ाई के जंगल की सैर कर बाघ को देखा।

टूर को इकनॉमी बना सकता है
इससे एसटीआर को करीब 60 हजार की आय होना बताया जा रहा है। मढ़ाई के बंद होने के बाद भी पर्यटक चाहें तो पचमढ़ी जा सकते हैं। बारिश का मौसम होने के कारण पचमढ़ी का नजारा काफी अच्छा है। वहीं अभी पचमढ़ी में पर्यटक कम होने के कारण सब कुछ पहले से भी सस्ता है। जो टूर को इकनॉमी बना सकता है।

 

मढ़ई में पर्यटन कुछ दिनों के लिए शुरू हुआ था
18 जून से सतपुड़ा टाइगर रिजर्व की मढ़ई में पर्यटन कुछ दिनों के लिए शुरू हुआ था। इसके बाद मानसून शुरू होते ही चार माह के लिए मढ़ई के दरवाजे पर्यटकों के लिए बंद हो गया। रिजर्व के सहायक संचालक आरएस भदौरिया ने बताया कि गत दिनों ही एफडी एसके सिंह व डीडी एके शुक्ला की उपस्थिति में सारंगपुर में रिसोर्ट संचालकों, टूर आपरेटर्स व गाईड्स की बैठक लेकर कोविड-19 के संक्रमण के नियम की जानकारी दी थी।


ये थे पर्यटकों के लिए नियम
रिसोर्ट, लॉज, होटल प्रबंधन पर्यटकों की ट्रेवल हिस्ट्री की जानकारी प्रशासन को उपलब्ध कराएंगे। रिसोर्ट, होटल में ही पर्यटकों की स्क्रीनिंग करें तथा स्वस्थ पर्यटक ही पर्यटन द्वार पर भेजे जाएंगे।


प्रवेश द्वार पर ही स्वास्थ्य विभाग कर्मचारियों द्वारा पर्यटकों की थर्मल स्क्रीनिंग होगी। पर्यटकों के अनुज्ञा पत्रों की जांच मोबाइल एप के माध्यम से होगी, हार्ड कॉपी का संग्रहण नहीं होगा।

सफारी के लिए पर्यटक वाहन में एक ही परिवार के छह सदस्य बैठ सकेंगे तथा यदि अलग-अलग समूहों में लोग आएंगे तो एक वाहन में 4 पर्यटक बैठ सकेंगे।


समस्त पर्यटक, गाइड, वाहन चालक मास्क पहनेंगे व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करेंगे। सभी वाहन सैनेटाइज किए जाएंगे।

रोजाना सभी पर्यटक वाहन जैसे कि जिप्सियों को सैनिटाईज करना होगा।


पर्यटकों की आमद के स्थानों जैसे टिकिट विंडो, रेस्ट हाउस, रैलिंग, दरवाजों आदि को दिन में तीन बार सैनिटाईज करना होगा।


पर्यटकों के संपर्क में आने वाले प्रत्येक कर्मचारियों को मास्क पहनने, हाथ धोने, सैनिटाईजर का उपयोग करने, सोशल डिस्टेंसिंग बनाने आदि के निर्देशों का पालन करना होगा।


किसी कर्मचारी अथवा पर्यटक में कोरोना जैसे लक्षण दिखने पर स्वास्थ्य विभाग की टीम को सौंपा जाएगा तथा कोविड-19 से संबधित समस्त प्रोटोकॉल का पालन करना होगा।

Show More
KRISHNAKANT SHUKLA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned