वो पानी लेने गई थी कुएं...फिर नहीं लौटी...क्यों

भगतसिंह वार्ड निवासी कक्षा दसवीं में अध्ययनरत कंचन उर्फ रानी पिता नान्हू पंवार 18 वर्ष घर के पास मैदान में बने कुएं से बहन रिषिता के साथ पानी भर रही

By: rakesh malviya

Published: 11 Dec 2017, 10:58 AM IST

मुलताई. कुएं पर पानी भरने गई एक छात्रा रविवार दोपहर पैर फिसलने से कुएं में गिर गई, मामला भगतसिंह वार्ड गायत्री नगर का है। घटना में उसकी मौत हो गई। जानकारी के अनुसार भगतसिंह वार्ड निवासी कक्षा दसवीं में अध्ययनरत कंचन उर्फ रानी पिता नान्हू पंवार 18 वर्ष घर के पास मैदान में बने कुएं से बहन रिषिता के साथ पानी भर रही थी। इसी दौरान कंचन का पैर फिसलने से वह कुएं में गिर गई, रिषिता जब वापस कुंए पर पहुंची तो उसे घटना की जानकारी लगी। उसने आसपास के लोगों को इकठ्ठा कर बहन को बाहर निकाला और परिजन अस्पताल लेकर पहुंचे। तब तक कंचन की मौत हो चुकी थी। अचानक हुए हादसे से कंचन का पूरा परिवार गमगीन है। कंचन की मां ने बताया कि तीन बेटियों में कंचन दूसरे नंबर की बेटी थी अचानक हुए इस हादसे ने उनकी बेटी को छीन लिया।


हादसों को आमंत्रण दे रहा बिना मुंडेर का कुंआ
भगतसिंह वार्ड में मार्ग के खत्म होते ही सामने कुंआ है जो बिना मुंडेर का है, इस कारण यहां अक्सर हादसों का अंदेशा लगा रहता है। वार्डवासियों ने बताया कि पूर्व में भी कुंए में दो मौते हो चुकी हैं कई बार जानवार भी गिर चुके हैं ऐसी स्थिति में कुएं की मुंडेर बनाना आवश्यक है। वार्ड के लोगों ने बताया कि कुएं पर मुंडेर बनाने के लिए कई बार नगरपालिका को आवेदन दिया गया लेकिन आज नगरपालिका ने इस और ध्यान नहीं दिया गया। इसके अलावा क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों से भी कुए पर मुंडेर बनाने के लिए कई बार गुहार लगा चुके हैं लेकिन जनप्रतिनिधियों ने भी ध्यान नहीं दिया गया।

पीने के पानी के लिए कुएं का सहारा
वार्ड के लोगों ने बताया कि वार्डवासियों के लिए पीने के पानी के लिए कुएं का सहारा ही है। नगर में आए दिन नलों से पानी नहीं आता है। इसके अलावा गर्मी के दिनों में तो पीने के पानी के लिए परेशान होना पड़ता है। इसके अलावा नगर के अन्य वार्डवासी भी इस बिना मुंडेर के कुएं से पानी भरने को आते हैं। जिसके कारण हादसे का डर बना रहता है।

rakesh malviya Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned