सिंधिया ने दिया शिवराज को चैलेंज, दम है तो यह बात मेरी बुआ से कहो!

सिंधिया ने दिया शिवराज को चैलेंज, दम है तो यह बात मेरी बुआ से कहो!

Brijesh Chouksey | Publish: Jul, 28 2018 03:09:44 PM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

मुख्यमंत्री के राजा-महाराजा के तंज पर किया पलटवार

होशंगाबाद। मुख्यमंंत्री शिवराज सिंह चौहान के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को लेकर राजा-महाराजा के तंज पर सिंधिया ने पलटवार किया है। उन्होंने मुख्यमंत्री को चैलेंज देते हुए कहा कि वे यही बात उनकी बुआ यशोधरा राजे सिंधिया जो उनके ही कैबिनेट में मंत्री और दूसरी बुआ वसुंधराराजे सिंधिया जो राजस्थान की मुख्यमंत्री हैं, उनसे कहकर दिखाएं। साथ ही कहा- यही बात तब क्यों नहीं कही, जब वे राजमाता के नेतृत्व में काम करते थे।
कांग्रेस सांसद सिंधिया ने कहा कि पहले शिवराज सिंह चौहान तय कर लें कि हम राजा-महराजा हैं कि नहीं हैं। दोनों चीज नहीं चलेगी, जब राजमाता के नेतृत्व में भाजपा और शिवराज काम करते थे, तब वे राजमाता के विरोध में यही शब्द इस्तमाल कर सकते थे। तब क्यों नहीं किए। अभी भी समय नहीं निकला है, मेरी एक बुआ मप्र की कैबिनेट में है और दूसरी राजस्थान में मुख्यमंत्री। वे यह कहकर उनका विरोध क्यों नहीं करते। उन्होंने कहा मुख्यमंत्री खुद को पिछडे वर्ग का बता रहे हैं लेकिन मुख्यमंत्री ७.५ करोड़ जनता का प्रथम नागरिक होता है। उन्हें जात-पात से ऊपर उठकर सोचना चाहिए।

Scindia

सारे भाजपा नेता लगे हैं रेत करोबार में, नदियों को बना रहे खंडहर
प्रदेश कांग्रेस चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शिवराज सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि सरकार का ठप्पा लगाकर खनन माफिया अवैध रेत उत्खनन में लगा हुआ है। इस कारोबार में ऊपर से लेकर नीचे तक सारे भाजपा नेता मिले हुए हैं। यह बात मां नर्मदा के संरक्षण की करते हैं और खुद पूरे प्रदेश की नदियों को खोद रहे हैं। यह सरकार पूरे प्रदेश की नदियों को खंडहर में तब्दील करने का काम कर रही है। विश्व की किसी नदी में ऐसा नहीं देखा कि लेकिन यहां नदी के अंदर डेढ़ किलोमीटर सड़क बनाकर रेत निकाली जा रही है। सिंधिया यहां समिति की बैठक के बाद मीडिया से चर्चा कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि छह करोड़ पौधे लगाने का दावा करते हैं, लेकिन नर्मदा के दोनों तटों पर पौधों का नामोनिशान नजर नहीं आता। होशंगाबाद संभाग में पिछले 15 साल में एक भी शिक्षा का केंद्र स्थापित नहीं हुआ। डोलरिया में स्टील प्लांट का भूमिपूजन होने के बाद वहां इस सरकार ने एक ईंट तक नहीं लगाई। गेहूं खरीदी में भ्रष्टाचार हुआ है और किसानों को फसल का मूल्य नहीं मिल रहा है।

यह भी बोले

- पचास फीसदी बेरोजगारी बढ़ी एक साल में। प्रदेश के एक करोड़ युवा बेरोजगार घूम रहे।
- केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने माफी मांगी, यह उनका बड़प्पन है, लेकिन गलती शिवराज सरकार की थी

- भाजपा की पोल खोलने कांग्रेस एक माह तक पोलखोल अभियान चलाएगी, हाट बाजार में नुक्कड़ नाटक करेंगे।
- भाजपा का नारा था अवसर वाली सरकार, लेकिन यह निकली पान, पकोड़े और दूध की दुकान वाली सरकार।

- 100 से 120 टिकटों को 45 से 60 दिन पहले ही घोषणा कर दी जाएगी। लेकिन कई एेसे टिकट होते हैं जहां पर अधिक विचार विमर्श की जरुरत होती है। एेसे टिकटों में थोड़ी देरी हो सकती है।
- सरकार बनते ही वकील और मीडिया की सुरक्षा के लिए अधिनियम पारित किया जाएगा।
- यह चुनाव जनता बनाम भाजपा का है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned