पुलिस को देख भागा एसडीएम, भ्रष्टाचार का केस दर्ज

रिश्वत में मांगे थे दो लाख, लोकायुक्त पुलिस की टीम गई थी रंगे हाथ पकडऩे

बुदनी. भोपाल लोकायुक्त पुलिस ने शुक्रवार शाम को बुदनी एसडीएम वरूण अवस्थी के खिलाफ रिश्वत मांगने का प्रकरणदर्ज किया है। लोकायुक्त टीम ने शिकायतकर्ता जितेंद्र गौर निवासी रेहटी जिला सीहोर की शिकायत पर यह कार्रवाई की है। एसडीएम अवस्थी ने नक्शा सुधार कर डायवर्सन करने के लिए दो लाख रुपए मांगे थे। कार्रवाई के बाद से एसडीएम फरार है।
फरियादी जितेंद्र गौर ने बताया कि उनके भाई सुनील गौर की ग्राम इटावा जदीद में कृषि भूमि है, इस भूमि के नक्शे में दर्ज नहर सुधारने के लिए उन्होंने आवेदन एसडीएम कार्यालय में दिया था। इसके बाद एसडीएम करीब १ माह तक काम को टालते रहे। बाद में उन्होंने एक दिन काम करने के बदले दो लाख रुपए रिश्वत की मांग की थी। इसमें से १ मार्च को ५० हजार रुपए वर्धमान फेब्रिक्स कंपनी के नर्मदा गेस्ट हाउस में ले लिए थे। जिसकी पुष्टि वर्धमान फेब्रिक्स कंपनी की कॉलोनी के प्रवेशद्वार के आगंतुक रजिस्टर एवं गेस्ट हाउस में संधारित रजिस्टर की जप्ती से हुई। इसके बाद बकाया डेढ़ लाख रुपए लेकर एसडीएम ने शिकायतकर्ता के लिए एसडीएम कार्यालय बुलाया था। इसकी रिपोर्ट शिकायतकर्ता ने ३ मार्च को लोकायुक्त भोपाल से की थी।

टीम ने एक साथ तीन जगह दी दबिश
शिकायत के बाद भोपाल लोकायुक्त की टीम ने शुक्रवार शाम करीब ४.३० बजे वर्धमान के रेस्ट हाउस, एसडीएम कर्यालय और एसडीएम के निवास पर एक साथ दबिश दी। लेकिन एसडीएम नहीं मिले। टीम ने रात तक कार्रवाई करते हुए भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के अंतर्गत प्रकरण दर्ज किया है। कार्यवाही के दौरान लोकायुक्त डीएसपी नवीन अवस्थी, निरीक्षक मुकेश तिवारी सहित अन्य उपस्थित रहे।

जिम में तोडफ़ोड़ कर चोरी का प्रयास
होशंगाबाद. आदर्श नगर हाउसिंग बोर्ड स्थित जिम अनादि फिटनेस सेंटर में गत रात करीब १२.३० बजे तोडफ़ोड़ कर चोरी का प्रयास किया गया है। जिस संचालक रमेश उपरारिया ने देहात थाने में दी शिकायत में बताया है कि रात में हुई तोडफ़ोड़ के कारण एक मशीन टूट गई है, जिससे उसे ४००० रुपए का नुकसान हुआ है। संचालक ने बताया मोहल्ले के आपराधिक तत्व दारू पीकर अपराध करते हैं। इसके एक शिकायत पहले भी थाने में दी गई थी।

Show More
बृजेश चौकसे
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned