छात्रा की आंखों से खुला आत्महत्या का राज, प्रेमी गिरफ्तार

छात्रा ने फंदा लगाकर की थी आत्महत्या, पुलिस को गुमराह करने प्रेमी ने वायरल किया था खत

पिपरिया. हथवास में 1 जून को छात्रा की आत्महत्या मामले का पुलिस ने शनिवार को खुलासा किया। जांच में मामला प्रेम प्रसंग का निकला है। आरोपी प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया गया है। एसडीओपी शिवेन्दू जोशी ने बताया कि आरोपी ने प्रेमिका को मानसिक रुप से प्रताडि़त किया। अश्लील फोन चैटिंग, वीडियो, फोटो का आदान-प्रदान किया जो मोबाइल से मिले हैं। लॉकडाउन के दौरान वह मिलने के लिए बुलाता था, लेकिन मुलाकात नहीं होने के कारण छात्रा ने आत्महत्या कर ली थी।

पत्र में लिखा था सिर्फ युवक

एफएससएल जांच और पीएम रिपोर्ट में फंदा लगाने से मौत का पता चला है। जिसके बाद आरोपी पर 306,201 का प्रकरण दर्ज किया है। मृतका के नाम से वायरल पत्र की पड़ताल में सामने आया है कि उसमें आरोपी का नाम नहीं है। सिर्फ एक युवक लिखा है। पत्र 3 मई को वायरल हुआ है पुलिस इसे आरोपी की साजिश मान रही है। मामले में आरोपी धर्मेन्द्र ने स्वीकार किया है कि उनके बीच प्रेम प्रसंग था छात्रा के परिजन उसे मिलने नहीं देते थे पत्र में भी छात्रा ने परिजनों पर प्रताडऩा का आरोप लगाया है।

मोबाइल से पता चला प्रेम प्रसंग
टीआई प्रवीण कुमरे ने बताया कि घटना के बाद मिला मृतका का मोबाइल लॉक था, फिंगर प्रिंट से लॉक नहीं खुलने के बाद मृतका की आंखों की पुतली से स्कैन होने के बाद लॉक खुला। जिसमें 100 से अधिक अश्लील तस्वीरें और मैसेज मिले हैं। टीआई ने बताया कि आरोपी विधि का छात्र है। उसने मृतका की सिम से वाट्सएप चलाकर मैसेज किए उसी नंबर पर प्रेमिका ने जवाब दिए। इससे वह पकड़ में आ गया। आरोपी ने घटना के बाद अपना मोबाइल सिम तोड़ कर साक्ष्य छिपाने का काम किया है।
आरोपी पर पूर्व से हैं अपराध दर्ज
टीआई ने बताया कि 6 माह पहले नाबालिग छात्रा की आत्महत्या के मामले में आरोपी के खिलाफ 306 का अपराध दर्ज हुआ है। वह जमानत पर है। एक युवक पर प्राण घातक हमला करने का भी केस दर्ज है। वह लड़कियों को प्रेम जाल में फंसाता था। घटना के बाद पुलिस आरोपी को पूछताछ के लिए थाने लाई तो दूसरे दिन आरोपी के परिजनों ने न्यायालय में आवेदन लगा दिया था पुलिस ने न्यायालय के आदेश पर आरोपी को छोड़ दिया था।

सूचना पर पूर्व में पुलिस पहुंची थी घर
टीआई के अनुसार मृतक छात्रा ने पूर्व में डायल 100 को फोन कर पुलिस को घर बुलाकर परिजनों के खिलाफ शिकायत की थी। एसआई प्रवीण मालवीय ने दोनों पक्षों को समझाइश दी और कोर्ट में जाने का मश्विरा दिया था।

इनका कहना है
प्रेम प्रसंग का मामला है आरोपी अपराधी प्रवृत्ति का है। जान बूझकर एक पत्र वायरल करवाया जो दबाव में लिखवाया गया था। अश्लील चित्रों को रखकर लड़की से मिलने का दबाव बनाता था जिसके चलते लड़की ने आत्महत्या की है। मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर प्रकरण विवेचना में लिया गया है।
शिवेन्दू जोशी, एसडीओपी

Show More
बृजेश चौकसे
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned