हनी ट्रैप मामले में सीएम बोले - 'मैं किसी को गाली नहीं देता, न आरोप-प्रत्यारोप में मेरा भरोसा हैÓ

भाजपा द्वारा फंसाने के मामले में मीडिया द्वारा पूछे गए सवाल का दिया जवाब

By: Shakeel Niyazi

Published: 10 Feb 2018, 01:32 PM IST

होशंगाबाद। 'मैं आरोप-प्रत्यारोप में भरोसा नहीं रखता हूं और न ही कभी किसी को गाली देता हूं। उनका काम है गाली देना और वे ही यह करते रहते हैं।Ó यह कहना है मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का। वे शुक्रवार को पिपरिया में हनी ट्रैप में फंसे कांगे्रस विधायक हेमंत कटारे को भाजपा द्वारा फंसाने के मामले में मीडिया द्वारा पूछे गए सवाल का जवाब दे रहे थे। उनसे मीडिया ने सवाल किया था कि भाजपा पर कटारे को फंसाने का आरोप है और कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को उनके मुकाबले में मैदान में उतार रही है। हालांकि वे अन्य सवालों का जवाब यह देते हुए टाल गए कि वे इसके लिए यहां नहीं आए हैं।
चौहान पिपरिया में किरार समाज की महिलाओं द्वारा आयोजित सामूहिक विवाह समारोह में शिरकत करने पहुंचे थे। इसमें 15 जोड़ों का विवाह संपन्न कराया गया। विवाह की खासियत यह थी कि यह पूरा आयोजन महिला समूह द्वारा किया गया था। इसमें किसी भी प्रकार की नशा सामग्री (बीड़ी, तंबाकू और गुटका आदि) लेकर प्रवेश करने की अनुमति नहीं थी। महिलाओं ने इसके जरिए नशा मुक्ति का संदेश दिया। खाना परोसने से लेकर हर व्यवस्था महिलाओं ने संभाल रखी थी। मुख्यमंत्री ने इसकी सराहना की। कार्यक्रम में चौहान के साथ उनकी पत्नी साधना सिंह और पीडब्ल्यूडी मंत्री रामपाल सिंह भी मौजूद रहे।

उपचुनाव बाद होगा मंत्री मण्डल विस्तार
मुख्यमंत्री ने एक सवाल के जवाब में कहा कि जल्द ही एक ओर बार मंत्रीमंडल का विस्तार किया जाएगा। उनसे पूछा गया था कि क्या उपचुनाव के बाद मंत्रीमंडल का विस्तार किया जाएगा।
मातृ शक्ति के बिना नहीं बढ़ सकता प्रदेश आगे
मुख्यमंत्री ने समारोह की तारीफ करते हुए कहा कि मातृ शक्ति कुरूतियों को दूर करने प्रयासरत है। कोई भी देश व प्रदेश आधी आबादी हमारी माता-बहनों की क्षमताओं का उपयोग और योगदान लिए बिना विकास में आगे नहीं बढ़ सकता है। उन्होंने कहा इस आयोजन में हरस्तर पर महिलाओं की सहभागिता इस बात को दर्शाती है कि प्रदेश में महिलाएं न सिर्फ आगे बढ़ी हैं बल्कि उनमें नेतृत्व क्षमता भी उत्पन्न हुई है।
मिली थी खराब मंूग खरीदने की शिकायत
खराब मूंग बताकर किसानों को पंद्रह सौ क्विंटल मूंग वापस करने के सवाल पर सीएम ने कहा कि वे किसानों के साथ हैं और उन्हें न्याय मिलेगा। उन्होंने कहा कि गुणवत्ताविहीन मूंग खरीदे जाने की शिकायत मिली थी, उसकी जांच कराई गई थी। उनकी जानकारी में किसानों को मूंग वापस करने का मामला नहीं आया है, यदि ऐसा है तो इसकी जांच कराई जाएगी।

Shakeel Niyazi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned