शादी विवाह कराने की सुविधा देने के लिए खर्च किए थे तीस लाख रुपए, अब यह है स्थिति

नपा के सामुदायिक भवन की हालात खस्ता, किसी का भवन जर्जर है तो किसी में बिजली-पानी और सुरक्षा के इंतजाम नहीं

By: sandeep nayak

Published: 05 Sep 2019, 05:49 PM IST

होशंगाबाद। शहर में तीस लाख खर्च कर बनाए गए सामुदायिक मंगल भवन अब दयनीय हालत में हैं। आलम यह है कि इनकी ऐसी स्थिति देखकर कोई भी उनमें कार्यक्रम नहीं कराना चाहता। किसी का भवन जर्जर है तो किसी में बिजली-पानी और सुरक्षा के इंतजाम नहीं हैं। इनमें से एक भवन को जर्जर होने पर गिराया जा चुका है, लेकिन उसकी जगह दूसरे का निर्माण अब तक नहीं शुरू कराया जा सका। शहर में छह मंगल भवन हैं। जहां जरूरतमंद कम खर्च में मांगलिक कार्यक्रमों से लेकर अन्य आयोजन कर सकते हैं।
जानकारी के अनुसार मंगल भवन की हालत को देखते हुए यहां मजबूर परिवारों द्वारा ही बामुश्किल दो-तीन कार्यक्रम कराए जाते हैं। करीब डेढ़ दशक पुराने यह भवन अनदेखी का शिकार हो रहे हैं।

यहां बने हैं मंगल भवन
नपा ने शहर के बालागंज, हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी, रसूलिया, मालाखेड़ी सहित दो अन्य जगहों पर सामुदायिक मंगल भवन बनाए थे। इनमें से मालाखेड़ी का भवन ३ साल पहले आदिवासी विकास विभाग द्वारा मिली राशि से बना है।

अब यह है हालत
- हाउसिंग बोर्ड के मंगल भवन में बिजली, पानी और चौकीदार की व्यवस्था नहीं है। तीन साल पहले रिनोवेशन हुआ था। बावजूद इसके लोगों की यहां कार्यक्रम कराने में रुचि नहीं है। रात में यहां असामाजिक तत्वों का डेरा रहता है।

- बालागंज का मंगल भवन करीब १० साल पुराना है। मेंटेनेंस नहीं होने से लोग यहां कार्यक्रम कराने में रुचि नहीं ले रहे।
- आदमगढ़ में नया मंगल भवन बनना है। पुराना भवन क्षतिग्रस्त होने से उसे जमींदोज किया जा चुका है। नए भवन का काम अब शुरू नहीं हुआ।

इनका कहना है
मंगल भवन की हालत खस्ता है। उसमें बिजली, पानी के अलावा चौकीदार भी नहीं है।
प्रणव रिछारिया, स्थानीय निवासी
शहर के मंगल भवन की कमियां दूर करने का प्रयास किया जाएगा। कुछ भवनों को लेकर नई प्लानिंग कर रहे हैं।
अखिलेश खंडेलवाल, नपाध्यक्ष होशंगाबाद

sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned