प्रशासन की नाक के नीचे इस दिग्गज भाजपा नेता ने किया ये काम

इधर भाजपा नेता की कलेक्टर से शिकायत

By: Manoj Kundoo

Published: 25 Apr 2018, 12:31 PM IST

मनोज कुंडू/होशंगाबाद/इटारसी. राज्य सरकार और प्रशासन पेड़-पौधे लगाने के लिए अभियान चला रहा है। लेकिन इटारसी में प्रस्तावित बस स्टैंड से 50 लाख रुपए कीमत के 147 पेड़ चोरी हो गए, जिसकी न तो नगर पालिका को खबर है और न ही राजस्व विभाग को। जबकि यह चोरी रातों रात भी नहीं हुई होगी। अब कार्रवाई के लिए नपा और राजस्व विभाग आमने-सामने हैं। इधर एक भाजपा नेता ने खेत की मेड़ पर लगे पचास पेड़ जेसीबी से उखाड़ दिए। इसकी कलेक्टर से शिकायत की गई है।
जिम्मेदारी है।

पुरानी इटारसी ट्रेक्टर स्कीम में प्रस्तावित बस स्टैंड परिसर से १४७ पेड़ गायब हैं। यह पेड़ तने से काटे हैं, जो ६ एकड़ एरिया में फैले थे। अब पूरे परिसर में ठूंठ नजर आ रहे हैं। पूर्व पार्षद शिवकिशोर रावत बताते हैं कि प्रस्तावित बस स्टैंड परिसर में कभी कृषि अभियांत्रिकीय विभाग हुआ करता था। परिसर में लगे पेड़ ४० से ५० वर्ष पुराने थे। जिनकी लकड़ी बाजार में लगभग पचास लाख में बिकेगी।
इधर भाजपा नेता ने उखाड़वा दिए पेड़ - भाजपा के पूर्व जिला महामंत्री अनिल बुंदेला के खिलाफ कलेक्टर अविनाश लवानिया से डोलरिया के रहने वाले शिवदर्शन सिंह ने शिकायत की है। जनसुनवाई में की गई इस शिकायत में बताया कि डोलरिया स्थित उनके खेत की मेढ़ पर बुंदेला ने जेसीबी चलवा दी। जिससे लगभग पचास पेड़ उखड़ गए। उन्होंने कलेक्टर से स्थल निरीक्षण कर कार्रवाई करने की मांग की है।
कुल्हाड़ी और कटर से काटे - नीलगिरी, गुलमोहर, सिलवर ओक, सतकठा, बैर, नीम, आम और कुछ सागौन के पेड़ों को कटर मशीन और कुल्हाड़ी से काटा गया है। सूत्रों के मुताबिक केसला के जालीखेड़ा और धांसई से पेड़ कटाई के लिए आधा दर्जन मजदूर आए थे। इन्हें कौन लाया, यह जांच का विषय है।
भाजपा नेताओं ने काटे पेड़ - पेड़ चोरी कराने के मामले में भाजपा के रसूखदार लोगों का हाथ होने की बात सामने आई है। सूत्र बताते हैं कि प्रशासन की नाक के नीचे से भाजपा समर्थित एक पूर्व सरपंच और एक नेता मजदूरों से यह पेड़ कटवाकर ले गए। उन्हें एक दिग्गज भाजपा नेता का समर्थन हैं। इस कारण नपा और राजस्व विभाग कार्रवाई से बच रहे हैं।

बाउंड्रीवाल से लगे पेड़ छोड़े : बाउंड्रीवाल से लगे पेड़ों को काट कर ले जाने की कोशिश की थी। पेड़ के तने के आधे हिस्से को कुल्हाड़ी से काटकर छोड़ दिया। वर्षों पुराने ये पेड़ ३० मीटर तक ऊंचे हैं।
13 करोड़ 50 लाख का है प्रोजेक्ट - यहां करीब 6 एकड़ जमीन पर सुविधायुक्त बस स्टैंड प्रस्तावित है। वर्ष 2015 में बस स्टेंड प्रोजेक्ट के लिए योजना बनीं। नपा ने दस लाख रुपए से बाउंड्रीवाल बना ली है। सब इंजीनियर मुकेश जैन बताते हैं कि भूमि अधिग्रहण की कार्रवाई चल रही है। जिसके बाद निर्माण कार्य शुरू होगा।

सीधी बात आरएस बघेल, एसडीएम
सवाल : ट्रेक्टर स्कीम से पेड़ काट कर लाखों रुपए की लकड़ी गायब कर दी गई है?
जवाब : वार्ड ३ ट्रेक्टर स्कीम में पेड़ काटे जाने के मामले से हमें कोई मतलब नहीं। शहरी क्षेत्र में पेड़ काटने और कटवाने का अधिकार नपा को है।
सवाल : मामले में नपा ने आपको जांच के लिए पत्र लिखा है?
जवाब : मेरे पास कोई पत्र नहीं आया। मुझे इस मामले में कोई अधिकार ही नहीं है। पत्र मिलेगा तो मैं नपा को ही लिखूंगा कि जिसने भी काटे हैं, उसके खिलाफ कार्रवाई करेंं।
सवाल : नपा का कहना है, भूमि का आधिपत्य नहीं मिला है। भूमि राजस्व की है?
जवाब : भूमि का एडवांस पजेशन नपा को दे चुके हैं। उसमें जो भी प्रापर्टी है उसको सुरक्षित रखना नपा की जिम्मेदारी है। नपा ने किससे कटवाई, क्यों कटवाई ये उसकी

Manoj Kundoo Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned