आवारा सांडों ने तोड़ी स्कूटी तो वाहन मालिक ने नपा को ठहराया दोषी, सीएमओ के खिलाफ की रिपोर्ट

पिछले साल इटारसी में दो साडों की लडाई के दौरान सब्जी व्यापारी की हो चुकी है मौत

By: sandeep nayak

Published: 27 Nov 2020, 12:39 PM IST

होशंगाबाद/शहर की सड़कों पर आवारा मवेशियों की धमाचौकड़ी राहगीरों के लिए परेशानी के साथ नुकसान का कारण भी बन रही है। बीती रात में कोठीबाजार रोड पर लड़ रहे तीन सांडों ने एक रेस्टोरेंट के सामने खड़ी स्कूटी को क्षतिग्रस्त कर दिया। बाबई रोड निवासी स्कूटी मालिक धर्मेंद्र तिवारी ने इसके लिए नगरपालिका को दोषी ठहराते हुए थाना प्रभारी कोतवाली से सीएमओ के खिलाफ लिखित रिपोर्ट दर्ज कराई है। जिसमें आवारा मवेशियों के नियंत्रण के प्रति लापरवाही पर दांडिक प्रकरण दर्ज किए जाने की मांग की है। आवेदन देकर तिवारी ने बताया है कि वह 25 नवंबर की रात साढ़े 8-9 बजे के बीच रेस्टोरेंट पर खाना लेने गए थे, उन्होंने सड़क किनारे रेस्टोरेंट के सामने अपनी स्कूटी एमपी 05 एमक्यू 6644 खड़ी की थी। इसी दौरान तीन सांड आपस में भिड़ गए। उनकी लड़ाई में स्कूटी क्षतिग्रस्त हो गई है। चूंकि आवारा मवेशियों को पकडऩे-नियंत्रित करने की जिम्मेदारी नगरपालिका प्रशासन की होती है, जिसमें वह पूरी तरह फेल हो चुकी है। तिवारी का कहना है गाड़ी को हुए नुकसान की जिम्मेदारी नपा की ही बनती है। उनके जैसे अन्य लोगों को भी पहले के प्रकरणों में आर्थिक नुकसान के साथ शारीरिक पीड़ा भी झेलनी पड़ी है। इसलिए पुलिस नपा सीएमओ के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करे। यह शिकायत कलेक्टर-एसपी, नगरीय प्रशासन मंत्री, मुख्य सचिव को भी भेजी गई है। इस संबंध में सीएमओ माधुरी शर्मा से बात करनी चाही, लेकिन फोन रिसीव नहीं किया।

शहर की सड़कों पर मवेशी राज कायम
शहर की सड़क-चौराहों पर मवेशी राज है। मुख्य बाजार, इतवारा, मौरछली चौक, सराफा चौक, सेठानीघाट रोड, कोठीबाजार-सदरबाजार रोड, मालाखेड़ी, मीनाक्षी चौक-आइटीआई रोड, रसूलिया रोड सहित हाइवे पर भी आवारा मवेशियों के झुंड यातायात को बाधित करते हैं। कई बार वाहनों की टक्कर से मवेशियों की मौतें भी हो चुकी हैं। शहर में नपा की हाका गैंग भी सुस्त है। आवारा मवेशियों को पकड़कर शहर से बाहर नहीं भेजा जा रहा और न ही कांजी हाउस में।

यहां जानलेवा सहित हुई मवेशियों की लड़ाई
केस 01 : इटारसी के न्यास कॉलोनी के 60 वर्षीय बुजुर्ग की जान आवारा मवेशी की वजह से चली गई थी। घटना पिछले वर्ष 28 फरवरी को हुई थी। न्यास कॉलोनी में रहने वाले भजनलाल माधवानी सब्जी बाजार गए थे। इसी दौरान आवारा मवेशी ने उन्हें उठाकर पटक दिया था। जिससे उनकी मौत हो गई थी। हादसे के बाद भी नपा ने अब तक आवारा मवेशियों की समस्या के समाधान के लिए इंतजाम नहीं किया है।
केस 02 : होशंगाबाद के इतवारा बाजार के पास स्थित महावीर टॉकीज परिसर में दो सांडों की लडाई में एक बुजुर्ग की मौत हो चुकी है। तब भी आवारा मवेशियों को सड़कों से हटाने की मांग की गई थी।

उक्त विषय में शिकायत थाने में आई है। इसकी जांच करवाई जा रही है। नपा को पत्र लिखकर पूछा जा रहा है कि जिन मवेशियों ने गाड़ी क्षतिग्रस्त की है, वह किसके स्वामित्व व शहर सीमा के अंतर्गत आते हैं। घटनाक्रम की जांच के बाद जो भी दोषी पर अपराध दर्ज किया जाएगा।
संतोष सिंह चौहान, टीआई कोतवाली होशंगाबाद

sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned