कायाकल्प-5: प्रदेश के टॉप-फाइव सूची में आने की जद्दोजहद

जिला अस्पताल ने खुद को दिए 8३ फीसदी अंक, रिव्यू टीम ने काटे थे 13

By: poonam soni

Published: 21 Jan 2020, 06:22 PM IST

होशंगाबाद। कायाकल्प-5 के लिए मंगलवार को फाइनल सर्वे हुआ। तीन सदस्यीय टीम जिला अस्पताल का निरीक्षण करने पहुंची। इससे पहले सोमवार को पूरे अस्पताल परिसर की सफाई की गई। इसके अलावा मरीजों को मिलने वाली सुविधाओं को भी अपडेट किया गया है। जिला अस्पताल का डा. बीएस ओहरे, संजुलता भार्गव, डा. धीरेंद्र आर्य निरीक्षण करने पहुंचे। वहीं जिला अस्पताल इन दिनों टॉप फाइव की सूची में आने की जद्दोजहद में लगा हुआ है।

गंदगी की बजह से काटे से नंबर
ज्ञात रहे इससे पहले हुए सर्वेक्षण में रिव्यू टीम ने अस्पताल में गंदगी मिलने पर 13 प्रतिशत अंक काट लिए थे। जिसकी वजह से वर्तमान में कायाकल्प की प्रदेश स्तरीय रैकिंग में जिला अस्तपाल 30 नंबर पर पहुंच गया है। जबकि अस्पताल प्रबंधन ने खुद को 83.2 प्रतिशत अंक दिए थे।

अभी ये स्थिति
राज्य स्तरीय रिव्यू रैंकिंग में जिला अस्पताल 80.2 अंक के साथ प्रदेश स्तरीय रैंकिंग में नंबर 30 पर है। बैतूल 89.8 अंक के साथ प्रदेश की टॉप-10 सूची में शामिल है। हरदा 58.8 अंक के साथ नंबर 40 पर है।

टॉप-5 में रहा होशंगाबाद
जिला अस्पताल को 2018 में 85 प्रतिशत अंक मिले थे। इसी वजह से वह प्रदेश में नंबर-2 पर थे। बेस्ट परफार्मर के लिए 10 लाख रुपए अवार्ड भी मिला था। 2017 में पांच और 2016 में नंबर छह आने पर तीन-तीन लाख रुपए मिले थे।

अब इन पर फोकस
जिला अस्पताल में कायाकल्प टीम के सदस्य डा. अखिलेश सिंघल और सीएस डा. रविंद्र गंगराड़े बताते हैं कि साफ-सफाई को बेहतर किया गया है। वार्ड और परिसर में डस्टबिन रखवाए गए हैं। जगह-जगह लगने वाले कचरे के ढ़ेर हटवा दिए गए हैं। पार्किंग व अन्य सुविधाओं को बेहतर किया गया है। इसलिए उम्मीद है कि इस बार अंक बढ़ेंगे।

poonam soni
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned