अवैध कटाई के मामलों में नाकेदार सस्पेंड, एक वनकर्मी हो सकता है बर्खास्त....

-डीएफओ ने अवैध कटाई के जिम्मेदार वनकर्मियों पर शुरू की कार्रवाई

By: Rahul Saran

Published: 19 Mar 2020, 08:00 AM IST

होशंगाबाद। होशंगाबाद जिले में सामान्य वनमडंल के तहत आने वाली बनखेडी, सोहागपुर, सिवनी मालवा, इटारसी, सुखतवा आदि सर्किलों के जंगल में अवैध कटाई के मामले सामने आ चुके हैं। पिछले चार महीने में लकड़ी कटाई से जुड़े कई मामले सामने के बाद वन विभाग उन बीटों के जिम्मेदारों को लेकर सख्त हो गया है। डीएफओ ने एेसे ही एक मामले में एक नाकेदार को सस्पेंड कर दिया है। अभी कुछ और वनकर्मियों पर भी गाज गिरने वाली है।

------

आमाकटारा बीट मामले में हुई कार्रवाई
सिवनी मालवा की आमाकटारा बीट में सागौन के २७ पेड़ों की कटाई हुई थी। आमाकटारा वाले मामले में वन विभाग ने पहले 19 लोगों को पकड़ा था जिन्हें छोड़ दिया गया था बाद में 3 लोगों को पकडक़र उन पर प्रकरण बनाया गया था। यह तीनों आरोपी वन चौकी से भाग गए थे जो अब तक फरार हैं। इस मामले में जांच के बाद डीएफओ अजय पांडे ने नाकेदार रूपक झा को सस्पेंड कर दिया है। अन्य मामलों में भी जिम्मेदार वनकर्मियों पर जल्द ही कार्रवाई करने की बात डीएफओ अजय पांडे ने कही है। एक मामले में तो एक वनकर्मी के खिलाफ सेवा से बर्खास्त करने तक की कार्रवाई होने की बात सूत्र कह रहे हैं।

--------
कब-कब सामने आए मामले

-करीब 3 महीने पहले सोहागपुर के तत्कालीन प्रशिक्षु एसडीओ विजय मोरे ने लाखों रुपए की पापड़ा लकडी पकडी थी जो कि सोहागपुर वन परिक्षेत्र से काटी गई थी।
-इससे पहले चार पहिया वाहन को सागौन की लकड़ी के साथ पकड़ा गया था।

-सिवनी मालवा सर्किल की आमाकटारा बीट में सागौन तस्करों ने लगभग 27 पेड़ों का सफाया किया था।
-केसला के पास एक ट्रक व बुलेरो वन विभाग ने पकड़ी थी जिसमें लकड़ी जब्त हुई थी।

----------------
इनका कहना है

आमाकटारा बीट के मामले में नाकेदार को सस्पेंड किया गया है। अन्य मामलों में भी कार्रवाई की जाएगी। दोषियों
को किसी भी स्थिति छोड़ा नहीं जाएगा।

अजय कुमार पांडे, डीएफओ होशंगाबाद

Rahul Saran
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned