सूत्रसेवा भी अनलॉक : अलग-अलग रूटों पर चल रहीं 10 बसें

राहत की बात नहीं बढ़ाया गया किराया, पुराने किराय पर हो रहीं संचालित

By: sandeep nayak

Published: 21 Jul 2021, 12:22 AM IST

होशंगाबाद/अनलॉक के बाद से सूत्रसेवा बसें सड़क पर दौडऩे लगी हैं।भोपाल से होशंगाबाद, इटारसी, सारणी, बैतूल, पांर्डूना, छिंदवाड़ा बालाघाट के लिए अमृत योजना की सूत्र सेवा की 10 बसें पूर्व की तरह चलने लगी हैं। कोरोना लॉकडाउन के कारण पांच माह से यह बंद चल रही थी। सूत्र सेवा बस सेवा प्रबंधक राघवेंद्र तिवारी ने बताया कि भोपाल से 10 बसें चलाई जा रही हैं। जिसमें होशंगाबाद-इटारसी स्टॉपेज शामिल हैं। इनमें दो बसें छिंदवाड़ा, दो पांर्डुना, एक बैतूल, दो बालाघाट, दो जबलपुर, एक बस सारणी रूट पर चल रही है। बसों का यात्री किराया नहीं बढ़ाया गया है, पुराने किराया दर पर ही यात्रियों को सुविधा दी जा रही है। बस में तय सीटों पर सवारियां बैठाकर एवं तय समय पर ही चलाई जा रही है।

निजी बस संचालकों के चिंता बढ़ी: इंटक
इधर, जिले के संभागीय बस स्टैंड होशंगाबाद से अभी 25-30 निजी बसें ही चल पा रही हैं। जबकि अलग-अलग रूटों पर करीब 350 से अधिक निजी बसें संचालित होती हैं। बस यूनियनें एक साल के टैक्समाफी व किराया बढ़ोतरी की मांग कर रहीं, लेकिन शासन स्तर से सुनवाई नहीं हो पा रही। मप्र ट्रांसपोर्ट वर्कर्स फेडरेशन (इंटक), नर्मदापुरम् बस ऑनर्स एसोसिएशन, प्राइमरूट बस एसोसिएशन ने परिवहन व्यवसाय को मंदी-घाटे से उबारने मुख्यमंत्री, परिवहन मंत्री से लेकर परिवहन आयुक्त तक से शून्य करने-टैक्समाफी, के फॉर्म के निराकरण की कई बार मांगें रखीं, लेकिन अब तक कोई सुनवाई नहीं हो सकी है। फॉर्म ओ का तो निराकरण ही संभव नहीं है क्योंकि डीएम का जनता कफ्र्यू के दौरान डीएम का बसें बंद रखने का कोई आदेश ही नहीं निकला था। इंटक के प्रदेश महामंत्री प्रवेश मिश्रा (पिपरिया) ने यूनियनों की संयुक्त तौर पर हड़ताल की चेतावनी दी है।

sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned