कहीं कोल नगरी Moncky City न बन जाए, दूसरे प्रदेश से बुलाए जा रहे पकडऩे वाले

कोलनगरी में बढ़ा बंदरों का आतंक, निजात पाने उप्र के इमरान से किया जा रहा संपर्क

By: sandeep nayak

Published: 09 Dec 2017, 10:36 AM IST

सारनी। अब तक आपने सुना होगा कि बंदर ने फलां व्यक्ति को नोंच लिया, यहा जख्मी कर दिया। मध्यप्रदेश के बैतूल जिले में सारनी नगरपालिका पूरी ही इन बंदरों से परेशान है। यही कारण है कि अब इनसे निजात पाने के लिए नपा ने उत्तर प्रदेश के इमरान से संपर्क किया है जो बंदरों को पकडऩे में महारत रखते हैं।

नगरीय क्षेत्र में बंदरों का आतंक लगातार बढ़ता जा रहा है। इसका अंदाजा वन विभाग और नगरपालिका द्वारा उत्तर प्रदेश के बंदर पकडऩे में माहिर इमरान से संपर्क करने से ही लगाया जा सकता है। हालांकि दोनों विभाग खुलकर सामने आने के बजाए। एक-दूसरे पर टालामटोली कर रहे हैं। इसका खामियाजा बंदरों के आतंक का शिकार होकर आम जनता को भुगतना पड़ रहा है। एक ओर जहां वन विभाग द्वारा बंदरों के आतंक से लोगों को मुक्त करने नगरपालिका को पत्र लिखकर सुझाव दिए जा रहे हैं। वहीं दूसरी ओर नपा परिषद सारनी द्वारा वन विभाग को पत्र लिखकर बंदर पकडऩे में सहयोग देने की बात कही जा रही है। लेकिन दोनों ही विभाग खुलकर यह नहीं कह रहे हैं कि बंदरों को कौन पकड़ेगा।

लूट लेते हैं दुकानें
साप्ताहिक बाजार के दौरान बंदल फल और सब्जियों की दुकानों पर झुंड बनाकर टूटते हैं। ऐसे में दुकानदारों के सामान का तो नुकसान होता ही है, साथ ही आर्थिक नुकसान भी होता है। 26 नवंबर को साप्ताहिक बाजार के विजयासन मंदिर के पास एक सब्जी की दुकान पर ऐसा ही दृश्य देखने को मिल चुका है।
घरों पर बोल देते हैं हमला
रिहायशी क्षेत्र में दिनों दिन बंदरों की संख्या बढ़ रही है। कई बार बंदर घरों में घुसकर लोगों को घायल कर चुके हैं। जिसकी शिकायत पुलिस थाने में तक दी गई है। हालही में मप्र विद्युत उत्पादन कर्मचारी संघ बीएमएस द्वारा नगर में बढ़ते बंदरों के आतंक से मुक्त कराने नपा अधिकारी को पत्र लिखा है।

नागपुर में चल रहा उपचार
2 दिसंबर को मठारदेव कालोनी में विवाह समारोह के बाद डेकोरेशन करने वाले हिप्पी पर अचानक बंदरों ने हमला कर दिया। जिससे हिप्पी छत से नीचे गिर पड़ा। गंभीर हालत में घायल को नागपुर अस्पताल ले जाया गया।

दो बार पत्र लिखा है
बंदरों के आतंक की बार-बार मिल रही शिकायतों को देखते हुए दो बार नगरपालिका को पत्र लिखा है। इस बार बंदर पकडऩे में माहिर उत्तरप्रदेश की टीम का पता भी दिया है।
विजय बारस्कर, रेंजर, सारनी।

सहयोग कर सकते हैं
बंदर वन्य प्राणी है। हम इसे नहीं पकड़ सकते। यह जिम्मेदारी वन विभाग की है। हम सहयोग करने को तैयार है। इसमें कोई दोमत नहीं कि नगर में बंदरों का आतंक बढ़ रहा है।
पवन कुमार राय, सीएमओ, नपा, सारनी।

-----------------------------------------------------------------------------

Terror of monkeys in This city, Terror of monkey

sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned