सरकारी जमीन पर कब्जा कर मालिक बनने की होड़

सरकारी जमीन पर कब्जा कर मालिक बनने की होड़
Occupation of government land

yashwant janoriya | Publish: Feb, 19 2019 11:42:16 PM (IST) Hoshangabad, Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

मेहरागांव पंचायत के वैशाली नगर में नाले के पास लोगों ने किया अतिक्रमण

इटारसी. लोकसभा चुनाव से पहले सरकारी जमीन पर काबिज लोगों को जमीन की रजिस्ट्री कर मालिकाना हक देने की प्रदेश सरकार की योजना ने अतिक्रमणकारियों के हौसले बुलंद कर दिए हंै। यही कारण सरकारी जमीन पर रातोंरात अतिक्रमण किए जा रहे हैं। सरकारी जमीन पर कब्जा कर मालिक बनने की होड़ में लोग निजी भूमि
पर भी अतिक्रमण करने से बाज नहीं आ रहे हैं। मेहरागांव पंचायत के वैशाली नगर में ऐसा ही मामला सामने आया है। जहां लोगों ने नाले के पास पड़ी जमीन के साथ ही निजी भूमि पर भी कब्जा कर लिया है। इस मामले में जमीन मालिक ने एसडीएम वंदना जाट से भी शिकायत की है।
अतिक्रमण कारियों को समझाने पहुंचे सरपंच
मामला उजागर होने के बाद मंगलवार को सरपंच जितेन्द्र पटेल और पटवारी रमेश घुरेले मौके पर पहुंचे। सरपंच ने ग्रामीणों को समझाया कि यह निजी भूमि है। पटवारी ने भी नक्सा देखकर पुष्टि की और लोगों को इसकी जानकारी दी कि नाले की भूमि डूब क्षेत्र में आती है। बारिश के मौसम में नाले में पानी आने से पूरे क्षेत्र में पानी भर जाता है।
इनका कहना है
मौके पर जाकर लोगों को समझाया गया कि यह निजी जमीन है। खाली पड़ी जमीन को सरकारी जमीन समझकर लोगों ने अतिक्रमण कर लिया था।
जितेन्द्र पटेल, सरपंच, मेहरागांव

गांव में सड़क के पुराने विवाद में थाने पहुंचे ग्रामीण
इटारसी. पथरौटा थानाक्षेत्र के अंतर्गत झिरमऊ में एक ही परिवार में रास्ते को लेकर पुराना विवाद चल रहा है। उक्त मामला एसडीएम कोर्ट में प्रक्रियाधीन है। मामले में कार्रवाई करते हुए पूर्व में विवादित रास्ते को रॉड लगाकर बंद किया था। इस मामले को लेकर ग्रामीण मंगलवार को पथरौटा थाने पहुंचे। दरअसल सोमवार को गांव के किसी व्यक्ति की शवयात्रा के दौरान एक पक्ष ने रॉड मोडकर वहां से रास्ता बनाया। इसकी जानकारी दूसरे पक्ष को लगी तो उन्होंने पुलिस को सूचना दे दी। अब मंगलवार को दूसरे पक्ष के लोग इस आशंका में थाने पहुंच गए कि कहीं विरोधियों ने उनकी शिकायत तो नहीं कर दी। हालांकि पुलिस के समझाइश देने के बाद वे सभी गांव वापस लौट गए। थाना प्रभारी कंचन ठाकुर ने बताया कि गांव के एक ही परिवार के बीच में रास्ते को लेकर पुराना विवाद चल रहा है। एक पक्ष को आशंका था कि दूसरे पक्ष ने उनकी शिकायत तो नहीं कर दी। यही ककारण है कि ग्रामीण पुलिस को अपना पक्ष बताने आए थे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned