कांग्रेस नेत्री के बारे में यह क्या बोल गए पूर्व जिलाध्यक्ष, देनी पड़ रही सफाई...पढ़े पूरी खबर

दो दिन पूर्व जिलाध्यक्ष पद से हटाए गए पुष्पराज पटेल ने सोशल मीडिया पर निकाली भड़ास

By: बृजेश चौकसे

Published: 24 May 2018, 01:15 PM IST

होशंगाबाद। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के मध्यप्रदेश दौरे से पहले कांग्रेसियों में बगावत के शुरू फूटना शुरू हो गए हैं। मंदसौर से शुरू हुई यह आग होशंगाबाद तक जा पहुंची है। अब तक पूरे प्रदेश में एक हजार कांग्रेसी इस्तीफा दे चुके हैं। तीन दिन पूर्व जिलाध्यक्ष पद से हटाए गए पुष्पराज पटेल ने अपने ही नेताओं पर ही निशाना साधा है। उन्होंने नर्मदा यात्रा में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के सारथी बने पूर्व सांसद रामेश्वर नीखरा के साथ ही पूर्व विधायक सविता दीवान को लेकर सोशल मीडिया पर ऐसी टिप्पणी कर दी कि चंद घंटों बाद ही उन्हें न केवल फेसबुक से अपनी टिप्पणी डिलीट करना पड़ी बल्कि अब सफाई देते फिर रहे हैं। इतना ही नहीं सफाई में दम लाने के लिए थाने में जाकर मोबाइल गुम होने की भी रिपोर्ट लिखा दी।
दरअसल कांग्रेस पार्टी ने तीन दिन पहले 20 जिलाध्यक्ष बदले हैं। उसमें पुष्पराज पटेल की भी कुर्सी चली गई। उनकी जगह फौजदार नए अध्यक्ष बना दिए गए। पार्टी का यह निर्णय पटेल और उनके समर्थकों को अखर रहा है। सोशल मीडिया पर उनके समर्थक पहले ही इसकी खिलाफत कर रहे हैं। बुधवार रात को खुद पटेल के फेसबुक पेज पर एक पोस्ट डाली गई। जिससे सुबह होते तक हलचल मच गई तो पोस्ट डिलीट कर दी गई।

यह भी पढ़े : कहर बरपाने वाले वायरस की देश में दहशत, रहें अलर्ट, जानें कितना खतरनाक है ये

The dirty talk about Congress leader, cleaning up

यह भी पढ़े : कर्नाटक से पहले मोदी ने गरीबों के खाते में डाले दस-दस लाख, झूम उठे लोग, पढ़ें पूरी खबर

क्या है पोस्ट में
पोस्ट में कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया, पूर्व सांसद रामेश्वर नीखरा और पूर्व विधायक सविता दीवान पर निशाना साधा है। शुरूआत एक शेर- काजी शराब पीने दे मस्जिद में बैठकर, या वो जगह बता जहां पर खुदा नहीं से की। आगे लिखा मध्यप्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया जी, मैं समझौतावादी आदमी नहीं हूं। एक २९ साल से लगातार चुनाव हार रहे रामेश्वर नीखरा जी और १५ वोट से जिला कलेक्टर टिर्की के द्बारा जिताई गई और अलगे चुनाव में २७००० वोट से हारने वाली सविता दीवान जी के कहने पर मुझे हटाया गया है। पार्टी कारण बताए, क्यों हटाया गया है? और नही तो इन दोनों नेताओं को खुली चुनौती है कि चारों विधानसभा क्षेत्र में चुनाव जीतकर बताएं। ज्ञात रहे कि दीवान विधानसभा चुनाव में दावेदारी कर रही हैं और नीखरा को अगला लोकसभा उम्मीदवार के रूप में देखा जा रहा है।

अब यह दे रहे सफाई
पोस्ट को लेकर पार्टी में बबाल मचने के बाद अब पुष्पराज सफाई दे रहे हैं। कह रहे हैं कि रात में कांग्रेस की सभा के बाद मेरा मोबाइल कहीं गुम हो गया था और रात में ही किसी ने उनकी आईडी से यह पोस्ड डाल दी। दोपहर होने ते पटेल थाने भी पहुंच गए और मोबाइल गुम होने की रिपोर्ट भी दर्ज करा दी। मजेदार बात यह है कि जब किसी ओर ने पोस्ट डाली तो फिर हटाई किसने। जबकि पोस्ट सुबह होने से पहले ही डिलीट कर दी गई थी।

पहले भी सोशल मीडिया पर दे चुके हैं इस्तीफा
पुष्पराज पटेल इसके पहले जिलाध्यक्ष रहते हुए सोशल मीडिया पर इस्तीफा देकर चर्चाओं में आए थे, पटेल ने मार्च 2017 में जिला महामंत्री चंद्रिका प्रसाद द्घिवेदी का नोटिस मिलने के बाद इस्तीफा दिया था।

यह भी पढ़े : पुष्पराज का पलटवार, नोटिस का इस्तीफे से जबाव

मुझे अभी इस विषय की कोई जानकारी नहीं है जानकारी लगने के बाद ही मैं कुछ कह पाऊंगी।
सविता दीवान शर्मा, पूर्व विधायक

अभी इस संबंध में मुझे कोई जानकारी नहीं है इसलिए मैं कुछ नहीं कह पाऊंगा, कल हम और पुष्पराज पटेल दिनभर दोनों साथ में रहे।
कपिल फौजदार, कांग्रेस के जिला अध्यक्ष

Congress leader
बृजेश चौकसे
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned