पुरानी वारदात में हाथ खाली अब हो गई नई वारदात

पुरानी वारदात में हाथ खाली अब हो गई नई वारदात
become empty in the old incident

yashwant janoriya | Updated: 14 Aug 2019, 07:32:05 PM (IST) Hoshangabad, Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

बिलासपुर भगत की कोठी में यात्रियों का सामान हुआ चोरी, जीआरपी ने भेजी टीम

इटारसी. ट्रेनों में वारदात का सिलसिला कम नहीं हो रहा है। इससे पहले तीन बड़ी वारदातों में जीआरपी के हाथ खाली है वहीं अब एक वार फिर हुई घटना से ट्रेनों की सुरक्षा पर सवाल खड़े हो रहे हैं। मंगलवार सुबह १८२४३ बिलासपुर-भगत की कोठी के एस०१ कोच में बर्थ १,२, ३ व ४ बर्थ पर यात्रा कर रहे यात्रियों का सामान चोरी होने की घटना हुई। अल सुबह ३ बजकर ४१ मिनट पर मुलताई स्टेशन से निकली तब यात्रियों को सामान चोरी होने की सूचना मिली। सुबह ६ बजकर ४७ मिनट पर इटारसी पहुंची तो यात्री बीआर नारायण ने सामान चोरी होने की शिकायत की। कार्रवाई के लिए जीआरपी ने एक प्रधान आरक्षक के साथ दो आरक्षकों की टीम को यात्रियों के साथ रवाना कर दिया।
पहले मुतलाई जाएगी डायरी
वारदात मुलताई के आसपास हुई है ऐसे में जीआरपी द्वारा तैयार की गई डायरी पहले मुलताई जाएगी। अधिकारियों की माने तो एक ही यात्री ने शिकायत की है। चोरी हुआ सामान शिकायतकर्ता के परिजनों का भी है। वारदात में १० हजार नकद और २ तोला सोना चोरी होने की बात सामने आ रही है। हालांकि अभी इस मामले में जीआरपी खुलकर कुछ भी कहने से बच रही है।
ट्रेनों में नहीं चलती गार्ड
आरपीएफ भले ही साथी अभियान चलाकर वारदातों के आरोपियों को पकडऩे की बात कह रही हो लेकिन हकीकत यह कि आरपीएफ के पास पर्याप्त बल ही नहीं है। यही कारण है कि अधिकतर ट्रेनों में गार्ड चलना ही बंद हो गई है। ट्रेनों में गार्ड मौजूद नहीं रहने का फायदा आसामाजिक तत्व भी उठाते हैं। आरपीएफ को साथी अभियान के साथ ही बल बढ़ाकर ट्रेनों में गार्ड की भी व्यवस्था करना चाहिए।
पुरानी वरदातों में भी नहीं हुआ खुलासा
साल की शुरूआत से ट्रेनों में लूट की 3 वारदात हो चुकी हैं। वारदात होने के बाद भी आरपीएफ के हाथ अब तक ााली है। जंक्शन पर टे्रनों के साथ ही यात्रियों की अधिक आवाजाही होने से सुरक्षा बलों को कार्रवाई करने में परेशानी होती है। साथ ही चारों दिशाओं से आने वाली ट्रेन में कहां के लोगों ने वारदात को अंजाम दिया है इसका पता लगाने में भी समय लग जाता है।
पहले भी हो चुकी हैं वारदात
31 जनवरी- बिलासपुर से अमृतसर जा रही छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस में को बरसाली स्टेशन के पास में अज्ञात लोगों ने चैन पुलिंग कर यात्रियों के साथ में लूट का प्रयास किया था। यात्रियों द्वारा बोगी का दरवाजा नहीं खोलने के कारण लूटेरों ने ट्रेन पर पथराव किया था। इस दौरान ट्रेन करीब २० मिनट तक बरसाली स्टेशन पर रूकी रही थी।
01 फरवरी- सोनतलाई और गुर्रा के बीच 12791 दानापुर सुपरफास्ट एक्सप्रेस में लूट की वारदात हुई थी। हादसे में पीडि़त बिहार निवासी भास्कर शर्मा से लुटेरों ने ट्रेन के बी४ कोच में लूटपाट की गई थी। लूट के दौरान अपराधियों ने यात्री भास्कर के हाथ में चाकू मारकर सोने की एक चेन, दो अंगूठी, दो कंगन के साथ कुछ नकदी ले गए थे।
04 मई- रात करीब ढ़ाई बजे पवारखेड़ा के पास सिग्नल को लाल कर दिल्ली से त्रिवेंद्रम जा रही 12626 केरला एक्सप्रेस में लूट की वारदात को अंजाम दिया था। इस दौरान लुटेरों ने पहले सिग्नल को लाल किया ट्रेन के रूकते ही एस 6 में कोच में सवार महिला यात्री के गले से सोने की चेन लूट ली थी। वहीं पीछे आ रही 11078 झेलम एक्सप्रेस पर भी पथराव किया था।
इनका कहना है
एक यात्री द्वारा शिकायत की गई है। मामले में टीम को यात्रियों के साथ भेज दिया था। मुलताई से डायरी आने के बाद ही आगे की कार्रवाई हो पाएगी।
बीएस चौहान, टीआई, जीआरपी

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned