पुलिस से बचने आठ किलोमीटर भागा यह शख्स, फिर खुद थाने पहुंचा, जाने क्यों?

बेटी पर बुरी नजर रखने वाले का काट दिया था गला, भेजा जेल

इटारसी। एक व्यक्ति पुलिस से बचने के लिए भागकर आधा घंटे में आठ किलोमीटर का सफर तय कर लिया। लेकिन फिर भी पुलिस ने पीछा नहीं छोड़ा तो खुद को पुलिस से बचाने के लिए पुलिस थाने में घुस गया। जहां से उसे गिरफ्तार कर लिया गया। शुक्रवार को अदालत में पेश किया, जहां से जेल भेज दिया गया। उसने अपनी बेटी पर बुरी नियत रखने वाले पड़ोसी का गुरुवार को दिन-दहाड़े हसिया से गला काट दिया था।
ऐसे चढ़ा हत्थे
आरोपी करिया उर्फ गोपाल कहार पुलिस से बचने के लिए वारदात के बाद खेत पर भागा। वहां झोपड़ी में हसिया छिपाने के बाद पैदल ही बाबई तरफ भागा। पुलिस उसका पीछा करते हुए खेत पर पहुंची। भाई ने उसके बाबई तरफ भागने की जानकारी दी। पुलिस भी पीछे लग गई। यह जानकर करिया दौड़ता रहा और आधा घंटे में आठ किलोमीटर का सफर तय कर बाबई पहुंच गया। पीछे पुलिस को लगा देख वह सीधे बाबई थाने में घुस गया। जहां से उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

ये है घटनाक्रम
दोपहर में डेढ़ वजह के आसपास 48 वर्षीय पड़ोसी सुभाष घोसी अपनी पत्नी के साथ कुएं से पानी लाकर गायों को पिला रहा था। आरोपी गोपाल स्वयं के घर के सामने सुबह से ही बैठा हुआ था। वह अचानक उठा और सुभाष को गाली देने लगा जिससे विवाद बढ़ गया और आरोपी ने हसिया से सुभाष की गर्दन पर हमला कर दिया जिससे उसकी श्वांस नली कटने से घटना स्थल पर ही मौत हो गई। मामले मृतक की पुत्री भारती ने थाने में केस दर्ज कराया। आरोपी को सुबह अदालत में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया। उसके पास से हत्या में उपयोग किया हसिया बरामद कर लिया गया है। पुलिस ने बताया कि गुरुवार को दोपहर डेढ़ बजे रामपुर थाना के अंतर्गत मिडिल स्कूल के पास बिछुआ गांव में रहने वाले सुभाष पिता मिश्रीलाल घोषी उम्र 48 वर्ष पर पड़ोस में रहने वाले करिया उर्फ गोपाल पिता मन्नूलाल कहार ने हसिया से हमला कर दिया। आरोपी ने हसिया सुभाष की गर्दन पर दायीं ओर मारा। वार होते ही मौके पर ही सुभाष गिरा तो उठ नहीं पाया और मौत हो गई थी। पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया है।
इसलिए किया था हमला
थाना प्रभारी रामपुर नागेश वर्मा ने बताया कि आरोपी मृतक की पुत्री पर बुरी निगाह रखता था इसी वजह से उसने हत्या की है। आरोपी को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया है। इधर मृतक के परिजनों ने बताया कि कोई विवाद नहीं था। इधर आरोपी की बहन ने भी बताया कि पिछले कई दिनों से उसका भाई गोपाल के घर में रहता था और गांजा लेने भर रोज जाता था इसके बाद वह पूरे समय घर में ही रहता है।

Show More
बृजेश चौकसे
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned