एक बार रहवासी क्षेत्र के करीब आई बाघिन, किया ऐसा काम कि ग्रामीणों के उड़ गए होश

कॉलर आईडी से एंटीना साथ रखकर बाघिन की घने जंगलों में की जा रही निगरानी

By: sandeep nayak

Published: 17 Feb 2020, 12:18 PM IST

सोहागपुर/इन ग्रामीण क्षेत्र के लोगों में बाघिन का खौफ है। इसका कारण बाघिन का रहवासी क्षेत्र के करीब होना है। बांधवगढ़ से आई बाघिन पिछले पांच दिनों से एसटीआर के बफर जोन में घूम रही है। तीन वर्षीय इस बाघिन ने अब शिकार करना शुरू कर दिया है। रविवार सुबह पांच बजे शिकार करने के बाद सियारखेड़ा की ओर चली गई। यह जगह रहवासी क्षेत्र से महज डेढ़ किमी की दूरी पर है। रविवार सुबह पत्रिका प्रतिनिधि ने देखा कि एसटीआर का अमला हाथ में एंटीना लेकर जंगल में एक तय दूरी बनाकर बाघिन की निगरानी कर रहा है। मढ़ई रेंज आफिसर मुकेश डुडवे ने बताया कि सुरक्षा कारणों से अमले के कर्मचारी व अधिकारी वाहन में सवार होकर निगरानी कर रहे हैं। रविवार दोपहर करीब 12 बजे निगरानी दल को 50 फिट की दूरी पर घाटीनुमा क्षेत्र में एंटीना की बीप से बाघिन की लोकेशन मिली। बसंत पांडे ने डुडवे को बताया कि छह की रेंज में अर्थात 50 से 6 0 फिट की दूरी पर बाघिन उपस्थित थी। अधिकारियों ने बताया कि शिकार से बाघिन थक गई है। संभवत: शाम तक आराम करने के बाद फिर वह निकलेगी और शिकार खाने जाएगी।

चार टीमें कर रही छह-छह घंटे की शिफ्ट
जानकारी अनुसार चार टीमों को बाघिन की निगरानी करने के लिए छह-छह घंटे की शिफ्ट से बाघिन की लोकेशन ट्रेस कर र रही है। टीम में रेंजर डुडवे सहित बसंत पांडे, दुष्यंत मीना, भगवादास सगर, ज्ञानचंद कुशवाहा, अर्जुन, मधु, सुंदर दादा, ए कलमे, मनीष आदि रविवार सुबह की पाली में थे तथा सियारखेड़ा व सेहरा के बीच के जंगल में बाघिन की उपस्थिति की उन्होंने जानकारी दी।

sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned