व्यापारी बोले- शराब दुकान रात 12 बजे तक खुली रहे, तो आम दुकानें रात 10.30 पर क्यों हों बंद?

व्यापारी बोले- शराब दुकान रात 12 बजे तक खुली रहे, तो आम दुकानें रात 10.30 पर क्यों हों बंद?

govind chouhan | Publish: Sep, 04 2018 06:52:22 PM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

व्यापारियों ने नपाध्यक्ष के साथ थाने पहुंचकर की टीआई से शिकायत

सोहागपुर. साहब शराब दुकान तो रात 12 बजे तक खुली रहती है और किराना, पान, चाय, भोजनालय की दुकानें रात 10.30 बजे बंद कराई जा रही हैं। यह तो सरासर गलत है। उक्त बात व्यापारियों ने सोमवार दोपहर करीब दो बजे टीआई अनूप सिंह नैन से है। व्यापारी पुलिसकर्मियों द्वारा व्यापारियों से दुुकानें बंद कराने के नाम पर अभद्रता करने की शिकायत करने थाने पहुंचे थे। नगर परिषद अध्यक्ष संतोष मालवीय व व्यापारी संघ अध्यक्ष के नेतृत्व में पहुंचे व्यापारियों ने बताया कि गत दिनों रात साढ़े 10 बजे के लगभग दुकानें बंद कराने कुछ पुलिसकर्मी पहुंचे थे तथा उन्होंने व्यापारियों से गाली-गलौच की। यह ठीक नहीं है तथा सोहागपुर का आम व्यापारी सदैव प्रशासन को सहयोग करता है। लेकिन गाली-गलौच की जाएगी तो तो यह कदापि बर्दाश्त नहीं की जाएगी और पुलिस को आंदोलन का सामना करना पड़ सकता है। व्यापारियों ने साफ शब्दों में चेतावनी देते हुए अपना पक्ष रखा।

टीआई का यह कैसा जवाब?
जब व्यापायिों ने अपनी बात टीआई के समक्ष रखी तो टीआई नैन ने जवाब में कहा कि पूरे होशंगाबाद जिले में ढाबे रात 12 बजे तक खुले रखने के निर्देश मिले हैें, ताकि लंबी दूरी के वाहनों के यात्रियों को भोजन मिल सके। शराब दुकान को लेकर उन्होंने कहा कि आबकारी एक्ट के अनुसार कार्य होता है। इसमें वे कुछ नहंी कर सकते हैं। टीआई के अनुसार रात साढ़े 10 बजे के बाद असामाजिक तत्व ही बाजार में पहुंचते है, इसलिए बाजार जल्द बंद कराया जाता है। ताकि कोई दुर्घटना या लड़ाई झगड़ा न हो। व्यापारियों ने पत्रिका को बताया कि टीआई को यह जवाब समझ नहीं आया कि बाजार में रात साढ़े 10 बजे के बाद लफंगे घूमते हैं तो फिर शराब दुकान और ढाबों पर क्या सज्जन आदमी रात के 12 बजे तक आता-जाता है। व्यापारियों ने कहा कि टीआई को इस तरह के बयान देना शोभा नहीं देता।

Ad Block is Banned