100 जैन मंदिरों में चोरी करने की खाई थी कसम, १५ दिन पहले जेल से छूटा, इटारसी के जैन मंदिर का ताला तोड़ते धराया

15 मंदिरों में कर चुका चोरी, प्रदेश के अलग-अलग थानों में चोरी के १२ मामले दर्ज, जैन समाज से नाराज सागर निवासी आरोपी नीलेश के निशाने पर जैन मंदिर

By: Manoj Kundoo

Updated: 13 Sep 2021, 07:26 PM IST

होशंगाबाद/इटारसी
प्रदेश के जैन मंदिरों को चोरी के लिए निशाना बनाने वाला आरेापी इटारसी पुलिस के हत्थे चढ़ गया है। आरोपी नीलेश पिता प्रतापसिंह राजपूत (31) जैसीनगर सागर जिले का रहने वाला है। आरोपी दूसरी लाइन स्थित श्री पारसनाथ दिगंबर जैन मंदिर का शनिवार तड़के सुबह ३.५० बजे ताला तोड़कर चोरी करने का प्रयास कर रहा था। इसी दौरान समाज के लोगों के आने पर वह भाग गया। पुलिस को सूचना मिलने के आरोपी की तलाश शुरू की गई। आरोपी को पुलिस ने बस स्टैंड परिसर से गिरफ्तार कर उसके पास से ताला तोडऩे में उपयोग किया गया ओजार भी जब्त किया गया।
आरोपी नीलेश राजपूत जैन समाज से नाराज होकर पिछले सात साल से सिर्फ जैन समाज के मंदिरों में ही चोरी की वारदात को अंजाम दे रहा था। आरोपी ने पुलिस को बताया कि उसने जैन समाज के १०० मंदिरों में चोरी करने की शपथ ली है। उसने अभी तक प्रदेश के विभिन्न जिलों के 15 जैन मंदिरों में चोरी की वारदात को अंजाम दिया है। चोरी के मामले में वह तीन बार जेल भी जा चुका है। एएसआई संजय रघुवंशी ने बताया कि आरोपी जैन समाज के मंदिरों को ही चोरी के लिए टारगेट करता था। कई जिलों में चोरी की वारदात को अंजाम दे चुका है। जिसमें उसने लाखों की चोरी की है। चोरी के आरोप में आरोपी को गिरफ्तार कर कोर्ट पेश किया गया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।

झूठे केस में फंसाने से नाराज आरोपी ने ली थी शपथ-
जैन मंदिरों में ही चोरी के सवाल पर आरोपी नीलेश ने कहा 2013-14 में दमोह के बंडा के जैन मंदिर के बाहर बैठकर शराब पी रहा था, तभी मंदिर के कर्मचारी ने डांट दिया था, तो उसने बीयर की बोतल कर्मचारी के सिर में मार दी थी। इसके बाद कर्मचारी ने पूरे समाज को बुला लिया था और उसकी जमकर पिटाई के बाद उसे झूठे मामले में फंसा दिया था। इसी घटना से वह जैन समाज से चिढ़ा हुआ था। तभी उसने कसम खाई थी कि 100 जैन मंदिरों में चोरी करेगा और चोरी के पैसों में से कुछ हिस्सा गरीबों को देगा।

15 मंदिरों में की चोरी, 3 बार जेल-
आरोपी ने पुलिस को बताया कि उसने 3-4 साल पहले विदिशा के 4-5 जैन मंदिर, रायसेन बेगमगंज में 1, नरसिंहपुर करेली, महाराजपुर में एक मंदिर, देवरी में एक मंदिर सहित 15 जैन मंदिरों में चोरियां की है। तीन बार चोरी के आरोप में जेल जा चुका है। 15 दिन पहले ही सागर के रहली जेल से रिहा हुआ। जेल से छूटने के बाद 3-4 दिन गांव में रहा। फिर कसम अनुसार इटारसी में जैन मंदिर में चोरी करने आ गया। पुलिस ने बताया कि आरोपी सागर से शुक्रवार रात को ही इटारसी आया था। आने के बाद जैन मंदिर का पता पूछकर दूसरी लाइन पहुंचा था।

आरोपी के खिलाफ कई थानों में अपराध दर्ज-
आरोपी नीलेश राजपूत का पुलिस ने आपराधिक रिकार्ड खंगाला। उसके खिलाफ पथरिया थाना दमोह में 1, करेली थाना में 1, बेगमगंज रायसेन में 1, देवरी थाना सागर में 1, बासोदा थाना विदिशा में 3, केसली सागर में 2, महाराजपुर सागर में 1, पठारी थाना विदिशा में एक, बासोदा देहात थाना में एक सहित १२ अपराध दर्ज हैं।

Manoj Kundoo Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned