बैंक खातों में गड़बड़ी से अटके प्रदेश के 50 हजार बच्चों के साढ़े तीन करोड़ रुपए

सरकारी प्राथमिक और माध्यमिक ९२७ स्कूलों की राशि अटकी, गड़बड़ी से ५७ हजार ३५७ बच्चों के बैंक खातों में नहीं पहुंची गणवेश की राशि

होशंगाबाद

मप्र के ९२७ सरकारी प्राथमिक और माध्यमिक स्कूलों में पढऩे वाले ५० हजार से ज्यादा बच्चों के बैंक खातों में गड़बड़ी मिली है। जिसकी वजह से उन्हें निशुल्क गणवेश की राशि नहीं मिली है। इसका पता राज्य शिक्षा केंद्र को तब चला जब निशुल्क गणवेश वितरण के लिए शालावार बैंक खातों की सूची भारतीय स्टेट बैंक मंत्रालय शाखा भोपाल को भेजी गई। बैंक ने ९२७ स्कूलों में पढऩे वाले ५७ हजार ३५७ बच्चों के बैंक खातों में कमियां बताकर सूची लौटा दी। इन खाताधारक विद्यार्थियों को ३ करोड़ ४४ लाख १४ हजार २०० रुपए का भुगतान किया जाना है।
-----------
इन वजहों से नहीं हुई राशि जमा- मर्ज शालाओं के बैंक खाता बंद होने, खाते में केवायसी न होने के कारण बैंक द्वारा खातों का संचालन रोक देने एवं सही खाता नंबर नहीं होने की वजह से राशि जमा नहीं हुई। इसके अलावा मर्ज व बंद हुए स्कूलों जिनमें जिला स्तर से बाद में नामांकन दर्ज किया है। इनको भी राशियां जारी नहीं हो पाई है।
-----------
जिला समन्वयक की जिम्मेदारी तय- राज्य शिक्षा केंद्र ने मामले में एक आदेश जारी कर कहा कि जिला स्तर से जिले के खाते में सामान्य मद में उपलब्ध राशि से शीघ्र राशि जारी की जाए। राशि प्राप्त नहीं होने के कारण सीएम/सीएस हेल्पलाइन पर शिकायत मिलती है तो संबंधित जिले के परियोजना समन्वयक जिम्मेदार होंगे।
-----------
दो जोड़ी गणवेश के लिए 600 रुपए-
कक्षा पहली से 8वीं तक सभी छात्र-छात्राओं को गणवेश की राशि दी जाती है। प्रत्येक विद्यार्थी के मान से 600 रुपए बैंक खातों में देने का प्रावधान है।
-----------
इनका कहना है...
विद्यार्थियों के बैंक खातों में गड़बड़ी की वजह से राशि संबंधितों के खातों में नहीं पहुंच पाई है। हमने संबंधितों को बैंक खातों में सुधार करने व सत्यापन के बाद सामान्य मद में उपलब्ध राशि से भुगतान करने के निर्देश दिए हैं। -आइरीन सिंथिया जेपी, संचालक राज्य शिक्षा केंद्र भोपाल।
-----------
इन जिलों में विद्यार्थियों की अटकी राशि- -जिला -स्कूल -विद्यार्थी -राशि -आगरमालवा -४ -१६७ -१००२००-अलीराजपुर -२ -५० -३००००-अनूपपुर -१ -१३ -७८००-अशोकनगर -७ -३०७-१८४२००-बड़वानी -५ -२७६ -१६५६०० -बालाघाट -१९ -९३२ -५५९२००-बैतूल -५ -२२९ -१३७४००-भिंड -४ -२२० -१३२०००-भोपाल -१२ -९८८ -५९२८००-बुरहानपुर -९ -६५७ -३९४२००-छतरपुर -१७२ -१५५४१ -३२४६००-छिंदवाड़ा -८ -४२७ -२५६२००-दमोह -३ -२२१ -१३२६००-दतिया -१२ -८३५ -५०१०००-देवास -२ -१०४ -६२४०० -धार -१५ -६२५ -३७५०००-गुना -११२ -७४०७ -४४४४२००-ग्वालियर -१७ -१०५८ -६३४८००-हरदा -१ -७१ -४२६००-होशंगाबाद -४ -५१ -३०६००-इंदौर -१०५ -५५८३ -३३४९८००-जबलपुर -५ -१५८ -९४८००-झाबुआ -१ -८ -४८००-कटनी -१२ -६७३ -४०३८००-खंडवा -२ -१८५ -१११०००-खरगौन -२ -५५ -३३०००-मंडला -२ -११५ -६९०००-मंदसौर -१२ -५९२ -३५५२००-मुरैना -२ -४७ -२८२००-नरसिंहपुर -५ -११४ -६८४००-नीमच -८६ -३६८६ -२२११६००-पन्ना -३३ -१८६९ -११२१४००-रायसेन -५ -३४७ -२०८२००-राजगढ़ -१६ -९९३ -५९५८००-रतलाम -१२ -७५६ -४५३६००-रीवा -१० -२५४ -१५२४००-सागर -७ -३५२ -२११२००-सतना -८ -४०९ -२४५४००-सीहोर -१० -६३२ -३७९२००-सिवनी -६ -२५६ -१५३६००-शहड़ोल -८५ -५४६० -३२७६०००-शाजापुर -३४ -१३८८ -८३२८००शिवपुरी -१२ -९३५ -५६१०००सिंगरौली -४ -२७४ -१६४४००टीकमगढ़ -५ -२२७ -१३६२००उज्जैन -२६ -१२४४ -७४६४००उमरिया -१ -६२ -३७२००विदिशा -५ -५०४ -३०२४००

Manoj Kundoo
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned