रेड जोन में इटारसी; तीन और कोरोना पॉजिटिव मिलने से संख्या बढ़कर हुई 19

नए मरीजों की कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं, डॉ. हेड़ा या उनसे संपर्क में आने वालों से हुए संक्रमित

होशंगाबाद। जिले के इकलौते रेड जोन इटारसी में शुक्रवार को एक युवती सहित तीन लोग और कोरोना पॉजिटिव निकले। इसके बाद यहां संक्रमितों की संख्या बढ़कर 19 पहुंच गई है। बावजूद रेड जोन के इन मोहल्लों में प्रशासन एवं पुलिस की लापरवाही का आलम बदस्तूर जारी है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार शुक्रवार को हाजी मंजिल में रहने वाले मो. याहा (30), अशफाक (41) और शकीला (20) की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

50 परिवारों का कोरोना टेस्ट कराने की तैयारी

अब हाजी मंजिल के सभी 50 परिवारों का कोरोना टेस्ट कराने की तैयारी है। तीनों नए संक्रमित लोगों की अब तक कोई ट्रेवल हिस्ट्री सामने नहीं आई है। इनके पॉजिटिव आने पर करीब 484 लोगों के सैंपल लिए जाएंगे। ज्ञात रहे कि रेलवे का सबसे बड़े जंक्शन से महज तीन किलोमीटर के फासले पर स्थित हैं कोरोना प्रभावित क्षेत्र हाजी मंजिल और जीन मोहल्ला।

रेड जोन में इटारसी;  तीन और कोरोना पॉजिटिव मिलने से संख्या बढ़कर हुई 19

प्रभावित हाजी मंजिल में नहीं किया सैनेटाइजेशन
कोरोना संक्रमितों की संख्या इटारसी में बढ़ती जा रही है। बावजूद लापरवाही के एक के बाद एक मामले सामने आ रहे हैं। कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित होने के बावजूद यहां आना-जाना बदस्तूर जारी है। पहले एक क्वारंटाइन किया गया व्यापारी बाहर जाकर सब्जी बेचते पकड़ा जा चुका है। अब यहां प्रशासन की भी लापरवाही सामने आई। प्रभावित हाजी मंजिल में रहने वाले सबसे पहले कोरोना संक्रमित की पहचान 11 अप्रैल को हो गई थी। बावजूद अब तक परिसर के भीतर सेनेटाइजेशन नहीं किया गया। जिससे संक्रमण फैलने की आशंका से लोगों में दहशत है।
सरकारी अस्पताल के पास हाजी मंजिल परिसर में करीब 150 से 200 लोग रहते हैं। यह परिसर पूरी तरह कवर्ड है। खास बात यह भी है कि इस पूरे परिसर में एक ही कुटुंब के लोग रहते हैं। इसी परिसर में रहने वाले पीडि़त परिवार के सदस्य खुर्शीद अहमद ने बताया कि नपा सीएमओ से उन्होंने कई बार सैनेटाइजेशन कराने के लिए कहा है, लेकिन अभी तक इस ओर ध्यान नहीं दिया गया। इसके अलावा नपा द्वारा कोई सैनेटाइजेशन के लिए सामग्री भी उपलब्ध नहीं कराई गई।

बार-बार ताला खोलना संभव नहीं
इधर मामले में सीएमओ सीपी राय ने कहा कि सेनेटाइजेशन बाहर हो रहा है। जहां तक अंदर की बात है। उनको सावधानी बरतना है कि कम से कम लोगों के संपर्क में रहें। अगर कान्टेक्ट कम से कम नहीं करेंगे तो कितना भी सेनेटाइजेशन कर दिया जाए, उसका कोई लाभ नहीं होगा। सीएमओ बोले- बार-बार ताला खोलना संभव नहीं हो पाता है। इसलिए हाजी मंजिल परिसर में परिवार के लोगों को सेनेटाइजर भिजवा दिया था। जो टचेबल एरिया है जैसे दरवाजे की कुंडी, चेयर इत्यादि। इनको समय-समय पर सैनेटाइज करते रहने के लिए भी कहा था।
हाजी मंजिल के दूध बेचने वाले की शिकायत-
हाजी मंजिल में कोरोना संक्रमितों की पुष्टि होने के बाद वहां दूध सप्लाई करने जाने वाले एक व्यक्ति की शिकायत की गई है। शिकायत में बताया गया कि वह शहर के अन्य क्षेत्रों में दूध की सप्लाई कर रहा है। जिससे संक्रमण फैल सकता है।
इनका कहना है...
हाजी मंजिल परिसर एक क्लोज कैंपस है। यही समस्या है। इंडिवीÓयुअल घर होता तो सैनेटाइज कर देते। यह काम दो चार लोगों की टीम नहीं कर पाएगी। दस बारह लोग लगेंगे। सीएमओ से बोल दिया है। हाजी मंजिल परिसर को सैनेटाइज करवा रहे हैं।
-सतीश राय, एसडीएम

Corona virus कोरोना वायरस कोरोना वायरस समाचार
बृजेश चौकसे Editorial Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned