हत्या के बाद जिस युवती का हो गया था अंतिम संस्कार, इटारसी में दो सहेलियों के साथ घूमते पकड़ाई

Manoj Kundoo

Publish: Sep, 17 2017 11:23:57 (IST)

Hoshangabad, Madhya Pradesh, India
हत्या के बाद जिस युवती का हो गया था अंतिम संस्कार, इटारसी में दो सहेलियों के साथ घूमते पकड़ाई

कानपुर के क्वारी नदी में मिली थी दो युवतियों की लाश, कानपुर के सहसों थाना में दर्ज किया था हत्या का मामला दर्ज।

इटारसी.
उत्तरप्रदेश कानपुर पुलिस जिन तीन युवतियों को मरा समझकर जांच कर रही थी, वह तीनों कानपुर से कन्नौज, झांसी और ग्वालियर की सैर करते हुए इटारसी पहुंच गई थी। शनिवार को कानपुर पुलिस ने तीनों युवतियों को इटारसी रेलवे स्टेशन पर पकड़ा। यहां उन्हें जीआरपी थाना लाया गया, जहां से कानपुर पुलिस वापस ले गई है। उल्लेखनीय है कि इटावा सहसों थाना क्षेत्र के अंतर्गत क्वारी नदी के किनारे सिंडौस घाट से मंगलवार १२ सितंबर को दो किशोरियों के शव बरामद किए गए थे। इनमें से एक की पहचान कर ली गई थी, जबकि दूसरा अज्ञात था। थाना सहसों में ३०२ का अपराध दर्ज किया था। मामले में तीनों युवतियां इटारसी से बरामद की गई। जिसके बाद अब मृतकों की पहचान के साथ ही हत्या के मामले की दोबारा से जांच शुरू की गई है।
मोबाइल लोकेशन से युवतियों तक पहुंची पुलिस
अकबरपुर कानपुर देहात में युवतियों के अपहरण का मामला दर्ज किया गया था। जिसके बाद से लगातार पुलिस मोबाइल लोकेशन के जरिए युवतियों की तलाश में जुटी थी। दो दिन पहले युवतियों की लोकेशन झांसी स्टेशन पर मिली थी। यहां सीसीटीवी फुटैज में तीनों युवतियों की पहचान कर ली गई थी। जिसके बाद इटारसी स्टेशन से शनिवार को तीनों युवतियों को पकड़ लिया गया।
यह है मामला
कानपुर देहात के ग्राम चिराना थाना अकबरपुर निवासी योगिता उर्फ रानी (16) पिता नरेंद्र कुमार पासवान अपनी दो सहेलियों लक्ष्मी शर्मा पुत्री ओमप्रकाश शर्मा निवासी रनियां और हिमानी पिता त्रिलोकी सिंह सोमवार ११ सितंबर से गायब थीं। यूपी कानपुर के इटावा सहसों थाना क्षेत्र के अंतर्गत क्वारी नदी के किनारे सिंडौस घाट से मंगलवार १२ सितंबर को दो किशोरियों के शव मिले। किशोरी की पहचान परिजनों ने कानपुर देहात के क्षेत्रीय इंटर कालेज की कक्षा 11 की छात्रा योगिता उर्फ रानी के रूप में की गई। एक किशोरी के शव के मुंह में कपड़ा ठूंसा गया था। दूसरी किशोरी की एक आंख बाहर निकली थी। हालांकि उसके संग मिले दूसरे शव को उसकी ही सहेली हिमानी का माना जा रहा था लेकिन शिनाख्त करने पहुंचे हिमानी के पिता ने पहचानने से इनकार कर दिया था। जिसके बाद से ही युवतियों की तलाश जारी थी।
स्कूल गई थी युवतियां, इसके बाद नहीं लौटी थी घर
कानपुर देहात के ग्राम चिराना थाना अकबरपुर निवासी नरेंद्र कुमार पासवान एडवोकेट अपनी पत्नी नीता, पुत्रों राजा व रजत, भाई सर्वेश पिता गयाप्रसाद व अन्य परिवारीजनों के साथ पोस्टमार्टम स्थल पहुंचे थे। उनकी पुत्री योगिता उर्फ रानी (16) सोमवार ११ सितंबर से अपनी दो सहेलियों हिमानी और लक्ष्मी के साथ लापता थी। नरेंद्र ने बताया कि योगिता 11 सितंबर की सुबह क्षेत्रीय इंटर कालेज फतेहपुर रोशनाई अकबरपुर कानपुर देहात स्कूल पढऩे के लिए घर से सुबह साढ़े सात बजे निकली थी। उसको उसकी एक सहेली लक्ष्मी शर्मा बुलाने आई थी। वह उसी के साथ चली गई। जब दो बजे तक वह घर वापस नहीं आई तो चिंता हुई। स्कूल में पता किया तो जानकारी हुई कि वह स्कूल नहीं आई। वहीं पता चला कि सहेली लक्ष्मी व हिमानी भी गायब हैं। दिन भर तलाशने के बाद रात नौ बजे पुलिस को सूचना दी।
इनका कहना है...
जिस युवती को मृत समझकर हत्या का मामला दर्ज किया गया था। वह अपनी दोनों सहेलियों के साथ इटारसी मप्र में मिल गई है। मामले में अज्ञात मर्ग कायम कर हत्या के मामले की दोबारा जांच कर रहे हैं।
-अनूप परमार, थाना इंचार्ज इटावा सहसों थाना कानपुर यूपी।
कानपुर पुलिस ने इटारसी स्टेशन से तीन युवतियों को पकड़ा है। युवतियों को कानपुर पुलिस अपने साथ ले गई है।
-अनीता मालवीय, एसआरपी जीआरपी भोपाल।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned