आग से जली तीन वर्षीय बच्ची नैंसी की हमीदिया भोपाल में मौत

खेतों में लगी आग से झुलसे पांच मरीजों की हो चुकी है मौत

By: Manoj Kundoo

Published: 10 Apr 2019, 11:31 AM IST

होशंगाबाद. आग से जले चार मरीजों को मंगलवार की रात नर्मदा अस्पताल से हमीदिया भोपाल रेफर किया गया। इनमें आंचलखेड़ा के चिमन कीर, चंदा कीर समेत दो बच्चे यतीन व नैंसी कीर निवासी झालसर शामिल हैं। हमीदिया भोपाल में इलाज के दौरान रात डेढ़ बजे तीन वर्षीय नैंसी कीर की मौत हो गई। ज्ञात हो कि सोमवार को हमीदिया भोपाल शिफ्ट करने के दौरान मरीजों के परिजनों ने अस्पताल में हंगामा कर दिया था।
-------------
ये हैं घायल-
-क्षमा मालवीय (२२) पुरानी इटारसी, गुलाब बाई (४५) फेफरताल, करन यादव (२२), प्रवीण कीर (२८) आंचलखेड़ा, राहुल चौरे (२१) रदौड़ाखेड़ा, विवेक सिंह तोमर (२४) रैसलपुर, देवीलाल चौरे (२७) घुघवासा, मुकेश केवट (२५) विलजावली।
--------------
ये ऑपरेशन होना था- अस्पताल प्रबंधन के मुताबिक फेस्सियोटॉमी व डिब्राइडमेंट सर्जरी होनी थी। फेस्सियोटॉमी यानी कि चमड़ी में जहां आग से सूजन हो जाती है। उसे बीच-बीच में पंचर किया जाता है। डिब्राइडमेंट सर्जरी में जली हुई चमड़ी को निकाला जाता है।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

आग से जली तीन वर्षीय बच्ची नैंसी की हमीदिया भोपाल में मौत
-खेतों में लगी आग से झुलसे पांच मरीजों की हो चुकी है मौत
होशंगाबाद. आग से जले चार मरीजों को मंगलवार की रात नर्मदा अस्पताल से हमीदिया भोपाल रेफर किया गया। इनमें आंचलखेड़ा के चिमन कीर, चंदा कीर समेत दो बच्चे यतीन व नैंसी कीर निवासी झालसर शामिल हैं। हमीदिया भोपाल में इलाज के दौरान रात डेढ़ बजे तीन वर्षीय नैंसी कीर की मौत हो गई। ज्ञात हो कि सोमवार को हमीदिया भोपाल शिफ्ट करने के दौरान मरीजों के परिजनों ने अस्पताल में हंगामा कर दिया था।
-------------
ये हैं घायल-
-क्षमा मालवीय (२२) पुरानी इटारसी, गुलाब बाई (४५) फेफरताल, करन यादव (२२), प्रवीण कीर (२८) आंचलखेड़ा, राहुल चौरे (२१) रदौड़ाखेड़ा, विवेक सिंह तोमर (२४) रैसलपुर, देवीलाल चौरे (२७) घुघवासा, मुकेश केवट (२५) विलजावली।
--------------
ये ऑपरेशन होना था- अस्पताल प्रबंधन के मुताबिक फेस्सियोटॉमी व डिब्राइडमेंट सर्जरी होनी थी। फेस्सियोटॉमी यानी कि चमड़ी में जहां आग से सूजन हो जाती है। उसे बीच-बीच में पंचर किया जाता है। डिब्राइडमेंट सर्जरी में जली हुई चमड़ी को निकाला जाता है।

 

Manoj Kundoo Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned