एक सप्ताह से यहां डेरा डाले है टाइगर, अंजुमन और लक्ष्मी जुटे तलाश में

रात में हॉस्पिटल कॉलोनी तक पहुंचा बाघ

By: sandeep nayak

Published: 03 Mar 2019, 12:02 PM IST

सारनी। बैतूल जिले के सारनी में टाइगर का खौफ एक माह से जारी है। यहां शहरी क्षेत्र में बाघ की दस्तक है। जिससे लोगों के साथ वन अमला और एसटीआर का दल भी परेशान है। रविवार सुबह से टाइगर की लोकेशन सतपुड़ा राख बांध और लाल चौकी के पीछे मिली है। बताया जा रहा है कि दो दिन पहले जिस स्थान पर जंगली सुआर का बाघ ने शिकार किया था उसी जगह पर फिर से उसका मूवमेंट बताया जा रहा है। बाघ के होने की सूचना पर शहरी क्षेत्र के लोग रातभर दहशत में रहे। बताया जा रहा है कि बाघ की तलाश करने के लिए एसटीआर की टीम के साथ फॉरेस्ट रेंज ऑफीसर, एसडीओ के साथ वन अमला भी मौके पर तैनात रहा। जहां उसकी सर्चिंग की जा रही थी।

 

tiger return in sarni latest news

सुबह लाल चौकी पहुंचा
बाघ के गले में कॉलर आईडी लगा हुआ है। जिससे उसकी लोकेशन ट्रैस की जा रही है। रविवार सुबह लाल चौकी पर बाघ का मूवमेंट मिला है। इसके बाद हाथियों से उसे खदेडऩे की योजना बनाई गई है। इसके लिए सारणी से पाथाखेड़ा के लिए हाथी रवाना किए गए हैं। अंजुमन और लक्ष्मी नाम के हाथी यहां पर कुछ दिनों से उसकी तलाश कर रहे हैं।
एक सप्ताह से अधिक कहीं नहीं रूका
बताया जा रहा है कि यह टाइगर 1 फरवरी से सारनी के जंगलों में अलग-अलग जगह घूम रहा है। १ फरवरी से ३ मार्च तक के एनालिसिस में सामने आया है कि यह बाघ किसी भी एक स्थान पर एक सप्ताह से अधिक नहीं रूका है।

sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned