इस ट्रेक पर स्पीड ट्रायल में 113 किमी प्रति घंटा की स्पीड से दौड़ी ट्रेन

बुदनी से हटाया लोगों को फिर इटारसी से शुरू हुआ स्पीड ट्रायल

By: sandeep nayak

Published: 04 Apr 2019, 05:06 PM IST

इटारसी। बुधवार को तीसरी लाइन पर 113 किमी की रफ्तार पर स्पीड ट्रायल किया गया। इटारसी से बुदनी के बीच स्पीड ट्रायल पूरी तरह सफल रहा। इसके लिए पहले अधिकारियों ने बुदनी से लेकर इटारसी तक ट्रेक पर मौजूद लोगों, रेलवे कर्मचारियों व अन्य लोगों को इसकी जानकारी दी कि कुछ ही देर में स्पीड ट्रायल होगा इस वजह से ट्रेक से दूर रहे।
रेलवे क्रांसिंग पर तैनात कर्मचारियों को भी इसके लिए निर्देशित किया गया। बाद में इटारसी की ओर से स्पीड ट्रायल शुरू हुआ। इसके लिए अधिकारियों ने 110 किमी का लक्ष्य रखा था जबकि ट्रायल में अधिकतम स्पीड 113 किमी प्रति घंटा रही। इस मौके पर रेलवे के अधिकारियों के साथ ही केपीटीएल के अधिकारी भी मौजूद रहे।

लेवल क्रॉसिंग पर दोबारा होगी पेकिंग : ट्रायल के दौरान आदमगढ़ और गरीबी लाइन में ट्रेक पर बच्चों ने कुछ गिट्टियां रख दी थीं जिससे ट्रायल के दौरान कुछ आवाज आईं। वहीं होशंगाबाद में ईदगाह, सोनासांवरी व पवारखेड़ा लेवल क्रॉसिंग पर सड़क की पेकिंग सही नहीं है। यही कारण है कि अधिकारी अब इन लेवल क्रॉसिंग पर पेकिंग दोबारा की जाएगी। ट्रायल के दौरान भी इस वजह से लेवल क्रॉसिंग पर मामूली परेशानी आई।
34 किमी लंबा है सेक्शन : इटारसी से भोपाल के बीच की कुल दूरी 98 किमी है। बुदनी से बरखेड़ा के बीच के घाट सेक्शन की लंबाई करीब 32 किमी है। इस 32 किमी की लंबाई में रेल लाइन बिछाई जा रही है। इस सेक्शन में थर्ड लाइन प्रोजेक्ट पर करीब 300 करोड़ खर्च होने का अनुमान है। इटारसी से बुदनी तक तीसरी लाइन का काम पूरा हो गया है बरखेड़ा से भोपाल तक थर्ड लाइन बिछाने काम पहले पूरा हो चुका है।

बिना सिग्नल के हुआ स्पीड ट्रायल
तीसरी लाइन पर बुधवार को हुआ स्पीड ट्रायल सिग्नलों के बिना ही सफल रहा। दरअसल तीसरी लाइन के लिए सिग्नल तो खड़े हैं लेकिन वे अभी सिस्टम से जुड़े नहीं है। रेलवे के सुरक्षा कमिश्नर की स्वीकृति के बाद ये सिग्नल शुरू हो जाएंगे। इस वजह से पेपर पर आधारिक संचालक किया गया। अधिकारियों की माने तो पहले स्पीड ट्रायल के बाद अभी डीआरसी ट्रेक का निरीक्षण करेंगे। वहीं 3-4 दिन में मुंबई से सीआरएस इसका निरीक्षण कर ओके रिपोर्ट देंगे इसके बाद तीसरी लाइन पर ट्रेनों का संचालन शुरू हो पाएगा।
सेक्शन पर एक नजर
अंडरब्रिज 21
ओवरब्रिज 03
चैनल फेंसिंग 09
ग्रीन चैनल फेंसिंग 20
डिस्प्ले एलर्ट बोर्ड 25
&बुधवार को स्पीड ट्रायल सफल रहा। स्पीड ट्रायल के बाद अब डीआरएम और सीआरएस के निरीक्षण के बाद ट्रेक पर ट्रेनों की आवाजाही शुरू हो जाएगी।
एसएस रावत, प्रोजेक्ट डायरेक्टर, केपीटीएल

sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned