तस्कर गिरफ्तार, कार की गैस किट में छिपा रखा था ४० किलो गांजा

Brijesh Chouksey

Publish: Jan, 14 2018 12:06:57 (IST)

Hoshangabad, Madhya Pradesh, India
तस्कर गिरफ्तार, कार की गैस किट में छिपा रखा था ४० किलो गांजा

उड़ीसा और आंध्रप्रदेश से लाकर होशंगाबाद, भोपाल, सीहोर और राजगढ़ में करता था सप्लाई

होशंगाबाद. कोतवाली पुलिस ने शनिवार को अंतर्राज्यीय गांजा तस्कर को गिरफ्तार किया है। उसके पास से तीन लाख रुपए कीमत का ४० किलो गांजा जब्त किया गया है। आरोपी अल्टो कार की गैस किट में गांजे के पैकेट छिपाकर तस्करी करता था। वह अवैध गांजा उड़ीसा और आंध्रप्रदेश से लेकर आता है और यहां होशंगाबाद, भोपाल, सीहोर और राजगढ़ आदि शहरों में महंगे दाम पर सप्लाई करता है।
एसपी अरविंद सक्सेना ने प्रेसवार्ता में बताया कि गिरफ्तार आरोपी का नाम इब्राहिम पिता भूरे खां है। वह सीहोर जिले के श्यामपुर का रहने वाला है। उसके तार अंतर्राज्जीय तस्कर गिरोह से जुड़े हैं, इस बारे में पूछताछ की जा रही है। उसके पास से बिना नंबर की अल्टो कार, मोबाइल फोन और १० हजार आठ सौ रुपए नगद बरामद हुए हैं। कार में गैस किट की टंकी लगवा रखी थी, जिसमें गांजे के ११ पैकेट छिपाकर रखे थे। एक पैकेट ड्राइवर सीट के नीचे छिपा था। उसके बारे में मुखबिर से तस्करी की सूचना मिली थी। इस पर एएसपी शशांक गर्ग के नेतृत्व में टीम बनाई गई थी। टीम को शनिवार तड़के उसके खेप लेकर इटारसी से होशंगाबाद की ओर आने की सूचना मिली थी। इस पर एसएनजी स्कूल के सामने कार रोकी गई तो चालक इब्राहिम ने कूदकर भागने का प्रयास किया। उसे पकड़ लिया गया। वह होशंगाबाद, भोपाल, सीहोर और राजगढ़ में गांजे की खेप पहुंचाने की बात स्वीकार कर रहा है। उसके खिलाफ धारा 8/20 एनडीपीएस एक्ट का केस दर्ज किया गया है।

स्थानीय एजेंट भी लिप्त- इब्राहिम के साथ होशंगाबाद के स्थानीय एजेंट भी गांजे की सप्लाई में सक्रिय है। आरोपी से इनके नामों की पूछताछ जारी है। जल्द ही इनकी भी गिरफ्तारी की जाएगी।

ड्राइविंग छोड़ करने लगा था तस्करी
आरोपी इब्राहिम टैक्सी ड्राइवर है। उसके पास स्वयं की तूफान जीप है। वह पहले श्यामपुर से भोपाल सवारियां ढोता था लेकिन पिछले एक साल से गांजा तस्करों से जुड़ गया था। इसके बाद खुद तस्करी करने लगा। उसने तस्करी के लिए एक मारुति अल्टो कार दिसंबर 2017 में खरीदी। पुलिस से बचने के लिए इनायतपुरा कोलार रोड निवासी भांजे वसीम पुत्र मुश्ताक खां के नाम कार खरीदी थी। जिससे उस पर किसी को शंका न हो। बड़ी गैस किट गांजे की तस्करी के लिए ही लगवाई थी।

देतारी से लेता था गांजा
इब्राहिम ने पुलिस को बताया कि वह एक व्यक्ति के माध्यम से उड़ीसा एवं आंध्रप्रदेश की सीमा से लगे क्षेत्र में देतारी नामक व्यक्ति से मिला था। इस तरह वह एक वर्ष से गांजे की तस्करी कर रहा था। वह उससे 80 हजार रुपए में 40 किलो गांजा लेकर आता है, जिसे यहां दो लाख अस्सी हजार रुपए में बेचता है। वह तस्करी से कमाए धन से अधिक से अधिक टैक्सियां खरीदना चाहता था। इसलिए ड्राइवरी के साथ तस्करी करने लगा था।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned