उज्जवला की टंकी से चूल्हा नहीं जल रहा, जोड़ी जा रही रेलवे की पटरी

उज्जवला की टंकी से चूल्हा नहीं जल रहा, जोड़ी जा रही रेलवे की पटरी

Manoj Kumar Kundoo | Publish: Mar, 17 2019 12:32:40 PM (IST) Hoshangabad, Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

इटारसी के गरीबी लाइन रेलवे गेट पर चल रहा बेल्डिंग का काम

होशंगाबाद. गरीब परिवारों को रियायती दरों पर मिलने वाली उज्जवला गैस टंकी से रेलवे अपनी पटरियां जोड़ रहा है। इटारसी के गरीबी लाइन रेलवे गेट के पास इन दिनों बेल्डिंग का काम चल रहा है। यहां अंडरब्रिज का काम लगभग पूरा होने वाला है। जिसके चलते रेलवे गेट से आवाजाही पूरी तरह बंद करने के लिए रेलवे की पटरियों से बेरीकेट बनाए जा रहे हैं। इस बेरीकेट को बनाने के लिए किए जा रहे बेल्डिंग में उज्जवला गैस टंकी का उपयोग हो रहा है। यहां बेल्डिंग का काम कर रहे कर्मचारी ने बताया कि गैस बेल्डिंग के लिए एलपीजी टंकी की भी जरूरत पड़ती है। इसी वजह से इसका उपयोग किया जा रहा है। टंकी कहां से और कौन लाया, इस पर चुप्पी साध ली।
------------
ब्लॉकवार कहां कितने उज्जवला कनेक्शन - होशंगाबाद : २६७८ केसला (इटारसी) : १३४४१ बनखेड़ी : १३६६४ पिपरिया : १०२९५ सोहागपुर : ४३९१ सिवनीमालवा : ५९६१ बाबई : ५३३१
------------
योजना के लिए पात्रता - -आवेदक की उम्र १८ साल या इससे अधिक होनी चाहिए। -हितग्राही बीपीएल परिवार की महिला ही होनी चाहिए। -घर में किसी अन्य के नाम से पहले कोई गैस कनेक्शन नहीं होना चाहिए। -महिला के पास बीपीएल राशन कार्ड का होना आवश्यक है।
------------
इनका कहना है...
उज्जवला ही नहीं बल्कि किसी भी तरह के एलपीजी गैस सिलेंडर का उपयोग कामर्शियल तरीके से नहीं किया जा सकता। यह गलत है। रेलवे में जहां भी काम चल रहा है, वहां जांच कराएंगे।
-विनोद चौहान, जिला आपूर्ति नियंत्रक होशंगाबाद।

 

 

 

 

 

 

 

उज्जवला की टंकी से चूल्हा नहीं जल रहा, जोड़ी जा रही रेलवे की पटरी
-इटारसी के गरीबी लाइन रेलवे गेट पर चल रहा बेल्डिंग का काम

होशंगाबाद. गरीब परिवारों को रियायती दरों पर मिलने वाली उज्जवला गैस टंकी से रेलवे अपनी पटरियां जोड़ रहा है। इटारसी के गरीबी लाइन रेलवे गेट के पास इन दिनों बेल्डिंग का काम चल रहा है। यहां अंडरब्रिज का काम लगभग पूरा होने वाला है। जिसके चलते रेलवे गेट से आवाजाही पूरी तरह बंद करने के लिए रेलवे की पटरियों से बेरीकेट बनाए जा रहे हैं। इस बेरीकेट को बनाने के लिए किए जा रहे बेल्डिंग में उज्जवला गैस टंकी का उपयोग हो रहा है। यहां बेल्डिंग का काम कर रहे कर्मचारी ने बताया कि गैस बेल्डिंग के लिए एलपीजी टंकी की भी जरूरत पड़ती है। इसी वजह से इसका उपयोग किया जा रहा है। टंकी कहां से और कौन लाया, इस पर चुप्पी साध ली।
------------
ब्लॉकवार कहां कितने उज्जवला कनेक्शन - होशंगाबाद : २६७८ केसला (इटारसी) : १३४४१ बनखेड़ी : १३६६४ पिपरिया : १०२९५ सोहागपुर : ४३९१ सिवनीमालवा : ५९६१ बाबई : ५३३१
------------
योजना के लिए पात्रता - -आवेदक की उम्र १८ साल या इससे अधिक होनी चाहिए। -हितग्राही बीपीएल परिवार की महिला ही होनी चाहिए। -घर में किसी अन्य के नाम से पहले कोई गैस कनेक्शन नहीं होना चाहिए। -महिला के पास बीपीएल राशन कार्ड का होना आवश्यक है।
------------
इनका कहना है...
उज्जवला ही नहीं बल्कि किसी भी तरह के एलपीजी गैस सिलेंडर का उपयोग कामर्शियल तरीके से नहीं किया जा सकता। यह गलत है। रेलवे में जहां भी काम चल रहा है, वहां जांच कराएंगे।
-विनोद चौहान, जिला आपूर्ति नियंत्रक होशंगाबाद।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned