scriptUnnecessary delay in the works of tap water schemes will not be tolera | नल जल योजनाओं के कामों में अनावश्यक देरी नहीं की जाएगी बर्दाश्त | Patrika News

नल जल योजनाओं के कामों में अनावश्यक देरी नहीं की जाएगी बर्दाश्त

कलेक्टर ने बैठक में दिए सख्त निर्देश

होशंगाबाद

Published: November 17, 2021 09:30:22 pm

होशंगाबाद। जिले में स्वीकृत सभी नल जल योजनाओं का कार्य तेजी से पूरा करें। इन कार्यों में एक दिन की भी अनावश्यक देरी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। लापरवाही पर संबंधित के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी। यह निर्देश कलेक्टर नीरज कुमार सिंह ने मंगलवार को कलेक्टोरेट कार्यालय में आयोजित जिला जल एवं स्वच्छता मिशन की बैठक में पीएचई विभाग के अधिकारियों एवं निर्माण एजेंसियों को दिए। कलेक्टर ने निर्देश दिए कि जल जीवन मिशन के तहत बन रही नल जल योजनाओं में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखें। उन्होंने 31 दिसंबर तक जिले के शेष सभी ग्रामों की डीपीआर तैयार कर स्वीकृति के लिए भेजने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने नल जल योजनाओं के निर्माण में आ रही अतिक्रमण, भुगतान आदि समस्याओं का शीघ्र समाधान करने के निर्देश कार्यपालन यंत्री एवं सभी सहायक यंत्री लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग को दिए।
Unnecessary delay in the works of tap water schemes will not be tolerated
Unnecessary delay in the works of tap water schemes will not be tolerated
जिले के १६३ गांवों में नल-जल का प्रस्ताव-
कार्यपालन यंत्री पीएचई संजीव गुप्ता ने बताया कि जिले में कुल 908 ग्रामों की नल जल योजनाओं में से 313 योजनाओं को प्रशासकीय स्वीकृति प्राप्त हो चुकी है, जिनमें से 45 ग्रामों में नल जल योजनाओं का कार्य पूर्ण हो गया हैं। जिससे ग्रामीणों को घरों में ही नल के माध्यम से शुद्ध जल प्रदाय हो रहा है। 163 ग्रामों की नल जल योजना को स्वीकृति के लिए शासन को भेजा गया है।
नल जल योजनाओं के कामों में अनावश्यक देरी नहीं की जाएगी बर्दाश्त
कलेक्टर ने बैठक में दिए सख्त निर्देश
होशंगाबाद। जिले में स्वीकृत सभी नल जल योजनाओं का कार्य तेजी से पूरा करें। इन कार्यों में एक दिन की भी अनावश्यक देरी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। लापरवाही पर संबंधित के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी। यह निर्देश कलेक्टर नीरज कुमार सिंह ने मंगलवार को कलेक्टोरेट कार्यालय में आयोजित जिला जल एवं स्वच्छता मिशन की बैठक में पीएचई विभाग के अधिकारियों एवं निर्माण एजेंसियों को दिए। कलेक्टर ने निर्देश दिए कि जल जीवन मिशन के तहत बन रही नल जल योजनाओं में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखें। उन्होंने 31 दिसंबर तक जिले के शेष सभी ग्रामों की डीपीआर तैयार कर स्वीकृति के लिए भेजने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने नल जल योजनाओं के निर्माण में आ रही अतिक्रमण, भुगतान आदि समस्याओं का शीघ्र समाधान करने के निर्देश कार्यपालन यंत्री एवं सभी सहायक यंत्री लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग को दिए।
जिले के १६३ गांवों में नल-जल का प्रस्ताव-
कार्यपालन यंत्री पीएचई संजीव गुप्ता ने बताया कि जिले में कुल 908 ग्रामों की नल जल योजनाओं में से 313 योजनाओं को प्रशासकीय स्वीकृति प्राप्त हो चुकी है, जिनमें से 45 ग्रामों में नल जल योजनाओं का कार्य पूर्ण हो गया हैं। जिससे ग्रामीणों को घरों में ही नल के माध्यम से शुद्ध जल प्रदाय हो रहा है। 163 ग्रामों की नल जल योजना को स्वीकृति के लिए शासन को भेजा गया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Assembly Election 2022: चुनाव आयोग का फैसला, रैली-रोड शो पर जारी रहेगी पाबंदीगोवा में बीजेपी को एक और झटका, पूर्व सीएम लक्ष्मीकांत पारसेकर ने भी दिया इस्तीफाUP चुनाव में PM Modi से क्यों नाराज़ हो रहे हैं बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमारसुरक्षा एजेंसियों की भुज में बड़ी कार्यवाही, 18 लाख के नकली नोटों के साथ डेढ़ किलो सोने के बिस्किट किए बरामदUP Assembly Elections 2022 : टिकट कटा तो बदली निष्ठा, कोई खोल रहा अपने नेता की पोल तो कोई दे रहा मरने की धमकीPunjab Election 2022: भगवंत मान का सीएम चन्नी को चैलेंज, दम है तो धुरी सीट से लड़ें चुनावUP चुनाव आयोग ने हटाए 3 जिलों में DM, SP, शिकायतों पर एक्शनIIT Madras का 'परख' ग्रामीण व दुर्गम स्थानों में करेगा Corona की जांच
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.