एक तरफ दिनभर थाने में गिरफ्तारी-प्रदर्शन,दूसरी तरफ कोर्ट में पेश हुए 40 आरोपी, जानिए मामला

बिजली दफ्तर पर प्रदर्शन व जेई से धक्का-मुक्की के 40 आरोपियों को कोर्ट पेश किया, पूर्व पार्षद सहित भीड़ ने किया देहात थाना का घेराव...

By: Shailendra Sharma

Published: 08 Oct 2020, 08:55 PM IST

होशंगाबाद. वर्ष 2019 में बिजली की बार-बार ट्रिपिंग को लेकर संजय नगर ग्वालटोली वार्ड इलाके के कांग्रेस के पूर्व पार्षद लोकेश गोगले के साथ सौ से अधिक रहवासियों ने फेफरताल स्थित बिजली दफ्तर का घेराव कर जेई के साथ धक्का-मुक्की की थी। मामले में देहात थाना ने करीब 40 आरोपियों के खिलाफ धारा 294, 353 आईसीपी का प्रकरण दर्ज किया था। इस मामले में गुरुवार को पुलिस टीमों ने आरोपियों की गिरफ्तारी की। इसके विरोध में करीब चार सौ लोगों की भीड़ ने देहात थाने को घेर लिया और दिनभर प्रदर्शन चलता रहा। शाम चार बजे पुलिस ने बसों से भरकर गिरफ्तार किए गए आरोपियों को जिला कोर्ट ले गई और पेश किया। सभी को जमानत पर छोड़ दिया गया।

 

photo_2020-10-08_16-53-03.jpg

जेई से हुई थी धक्का-मुक्की हाथापाई
बताया जाता है कि बिजली दफ्तर के घेराव के दौरान कांग्रेस के पूर्व पार्षद गोगले व उनके साथ जमा हुई भीड़ ने जेई करनलाल के साथ झूमाझटकी और हाथापाई की थी। जेई की रिपोर्ट पर पुलिस ने प्रकरण दर्ज किया था। यह मामला एक साल से अधिक समय से लंबित चल रहा था। अचानक बीती रात में पुलिस टीमों ने आरोपियों के मोहल्ले व घरों में दबिश दी। गिरफ्तारियों का सिलसिला शुरू हुआ। कुल 40 आरोपी गिरफ्तार किए गए। पुलिस जब आरोपियों को गिरफ्तार कर बस में भरकर कोर्ट ले गई तो थाने और कोर्ट परिसर के बाहर संजय नगर ग्वालटोली की लोगों की भारी संख्या में भीड़ जमा हो गई। भीड़ एक पक्षीय कार्रवाई का विरोध करती रही। आरोपी महिलाओं का आरोप था कि जेई ने उनके साथ अभद्रता की है। शिकायत के बाद भी कार्रवाई क्यों नहीं की गई।

photo_2020-10-08_11-00-01.jpg

अचानक गिरफ्तारी के पीछे राजनीति दबाव का आरोप
जिला कांग्रेस प्रवक्ता शिवराज चंद्रोल ने बताया कि मामले में राजनीतिक दबाव के चलते गिरफ्तारियां की गई है। पिछले दिनों ही पूर्व पार्षद लोकेश गोगले ने उनके वार्ड के बाढ़ प्रभावितों को राशन एवं राहत राशि नहीं मिलने को लेकर शिकायत कर आंदोलन की चेतावनी दी थी। इसी वजह से पुलिस के माध्यम से गिरफ्तारियां की गई है। चंद्रौल ने कहा कि एक साल तक पुलिस ने इस मामले कार्रवाई क्यों नहीं की।

 

hsbd_pradarshan.jpg

देहात थाना परिसर में हुई नारेबाजी
आरोपियों की गिरफ्तारी के दौरान देहात थाना में संजय नगर कॉलोनी सिवनीनाका के रहवासियों ने नारेबाजी की। पूर्व पार्षद के समर्थन और होशंगाबाद विधायक के खिलाफ नारेबाजी की। संजय नगर के पार्षद की गिराफ्तारी के दौरान सिंधिया समर्थक भी गोगले के पक्ष में खड़े हुए दिखाई दिए। सबसे पहले शहर में राजेंद्र ठाकुर, मुकेश अग्निहोत्री सहित बड़ी संख्या में लोग गिराफ्तारी के घटनाक्रम के दौरान मौके पर मौजूद थे। यह सभी होशंगाबाद विधायक के बड़े विरोधी के तौर पर जाने जाते हैं।

hsbd_aropi.jpg

पूर्व पार्षद लोकेश गोगले का कहना है
8 जून 2019 को दोपहर से रात तक बार-बार लाइट गुल हो रही थीं। बिजली 17 से 18 बार बिजली आती-जाती रही। वार्ड की महिलाएं रात में करीब 11 बजे फीडर फेफरताल बिजली दफ्तर में शिकायत करने पहुंची थी। इस दौरान जेई करनलाल सेन ने कहा- आप लोग बिल तो भरते नहीं हो, लड़ने आ जाते हैं। जितनी बिजली मिल रही ठीक है। जब महिलाओं को अपना अपमान लगा तो उन्होंने मुझे वार्ड का पार्षद होने के नाते सूचना दी और मैं मौक पर पहुंचा। जेई ने कुछ महिलाओं के साथ बदतमीजी की थी, लेकिन जेई की रिपोर्ट पर प्रकरण दर्ज किया, लेकिन जो महिलाओं ने आवेदन दिए थे, उस पर कोई जांच व कार्रवाई नहीं हुई। गोगले ने बताया कि राजनीतिक दबाव के चलते गिरफ्तारियां की गई है। लोकेश ने आरोप लगाया है कि होशंगाबाद विधायक के इशारे पर पूरा षड़यंत्र चल रहा है।

Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned