मैंने पेड़ के पीछे छिपकर देखा, पहले पापा को जंगल में घसीट ले गए, कुल्हाडी से गर्दन काटी, मारकर जला दिया

जादू टोने के शक में गांव के आधा दर्जन लोगो ने मिलकर की युवक की हत्या

By: poonam soni

Published: 23 Nov 2019, 01:54 PM IST

पिपरिया. विस्थापित गांव आंजनढाना बारीदेवी में एक बहुत दर्दनाक घटना सामने आई है। घटना लापता युवक की हत्या की हैं। जिसमें उस युवक की बेटी ने खुद अपने पिता को मरते हुए अपनी आखों से देखा। यह घटना 19 नवंबर की है जब युवक लापता हो गया था। पुलिस जांच में पता चला है कि युवक की हत्या जादू टोने के शक में गांव के ही आधा दर्जन लोगों ने की है। युवक की गुमशुदगी स्टेशन रोड थाने में दर्ज है। इधर, मृतक की बत्तोबाई पत्नी और 10 साल की बेटी ने बयान दिए हैं कि सबूत मिटाने के लिए हत्या के बाद शव बारीदेवी के जंगल में ले जाकर जला दिया है।

पापा को पहले जंगल में काटा
मृतक युवक की 10 साल की बेटी और उसकी पत्नि बत्तोबाई ने पेड़ के पीछे छिपकर अपने पिता को मारने की बारदात को देखा। बेटी ने बताया कि पहले पापा को पांच लोगो ने जंगल में घसीटकर ले गए वहां उनके साथ मारपीट की फिर उन्हें जगल में ले जाकर कुल्हाड़ी से गर्दन काटी और मारकर जला दिया। गुमशुदगी, अपहरण और हत्या की बात सामने आने पर पुलिस अधीक्षक एमएल छारी ने शुक्रवार शाम घटना स्थल का दौरा किया।


परिवार में पहले भी हुई तीन लोगो की मौत
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि आंजनढाना निवासी 45 वर्षीय ओमप्रकाश मवासी की गुमशुदगी, अपहरण और हत्या कर शव जलाने की बात सामने आई है। जिन संदेहियों पर हत्या का आरोप है उनका बयान है कि परिवार में तीन मौत हो चुकी हैं हाल ही में पिता की मौत हुई है। संदेहियों ने ओमप्रकाश पर जादू टोना करने का शक जताया है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि हत्या के बाद शव को जलाने की बात सामने आई है। लेकिन जंगल में मिली राख और अवशेष किसके हैं फॉरेसिंक जांच रिपोर्ट के बाद ही यह तय होगा।

आधा दर्जन गांव के लोगो ने की हत्या
पुलिस अधीक्षक ने कहा कि टीआई एसके अंधमान इस मामले में गंभीरता से जांच कर खुलासा करने निर्देशित किया है। टीआई ने बताया कि 19 जनवरी को ओमप्रकाश के परिजनों ने गुमशुदगी दर्ज कराई थी। जांच के दौरान पत्नी और बच्चों से पूछताछ में सामने आया कि पड़ोसियों ने ओमप्रकाश के साथ लाठी, कुल्हाड़ी से मारपीट की थी लेकिन वह दहशत में होने के कारण नहीं बोल पाए।

जांच जारी
पुलिस संरक्षण मिलने पर ओमप्रकाश की पत्नी और बच्चों ने कहा आरोपी मारपीट कर पिता को घर से ले गए और जंगल में जला दिया। टीआई ने बताया तत्काल अपहरण का मामला कायम कर प्रकरण जांच में लिया गया है। जंगल में राख का ढेर मिला है उसकी एफएसएल जांच के बाद मेडिकोलीगल भोपाल भेजा गया है रिपोर्ट आने के बाद ही आगे कार्रवाई होगी।

गर्दन काटकर जंगल में जला दिया
पति को घर से उठाकर ले गए मारपीट की हमने छिपकर सब देखा है। तीन लोग पति को लेकर गए थे, रास्ते में दो और शामिल हो गए। हम उनका नाम नहीं जानते हैं। इन लोगों पति की गर्दन कुल्हाड़ी से अलग कर दी। इसके बाद जंगल में शव को जला दिया। 10 साल की बच्ची ने भी घटना के चश्मदीद के तौर पिता को कुल्हाड़ी से काटने और लाठियों से पीटने का बयान दिया है।

Show More
poonam soni
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned