MP में इस जगह एक बार फिर उल्टी-दस्त का प्रकोप, 1 की मौत, मचा हड़कंप

MP में इस जगह एक बार फिर उल्टी-दस्त का प्रकोप, 1 की मौत, मचा हड़कंप

sandeep nayak | Publish: Jul, 14 2018 12:42:12 PM (IST) | Updated: Jul, 14 2018 01:13:20 PM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

सरकारी अस्पताल में पहुंच रहे बीमार, गांव में पहुंचा स्वास्थ्य अमला

सोहागपुर। मौसम बदलते ही उल्टी-दस्त ने लोगों को अपनी चपेट में ले लिया है। शुक्रवार के एक बार फिर सोहागपुर के ढिकवाड़ा में एक व्यक्ति की मौत हो गई और दर्जनों लोग अभी अस्पताल में भर्ती हैं। बताया जाता है कि दूषित पानी के उपयोग से यह स्थिति बनी है। शनिवार को भी सुबह से उल्टी-दस्त के मरीज सेहागपुर और पिपरिया पहुंचे। इसके अलावा संबंधित गांव में स्वास्थ्य का अमला भी पहुंचा, यहां जाकर टीम ने बीमार परिवारों की जांच की है।

 

मामले में सूचना मिलने के बाद तत्काल स्वास्थ्य विभाग की टीम ने शुक्रवार को पूरे दिन गांव में उपस्थिति देकर बीमारों का इलाज किया है। गांव में स्वास्थ्य का अमला भी पहुंचा, यहां जाकर टीम ने बीमार परिवारों की जांच की है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा बनाए गए पंचनामे में मृतक 45 वर्षीय माधवसिंह पुत्र कामताप्रसाद के भतीजेगजेंद्र ङ्क्षसह के अनुसार गुरुवार को उसके चाचा माधव सिंह को दस्त लगे। रात करीब तीन बजे माधव सिंह को लेकर परिजन पिपरिया लेकर गए। जहां चिकित्सक ने माधव सिंह को बाहर ले जाने को कहा, जिसके बाद इससे पहले की माधव सिंह को शुक्रवार तड़के कहीं ले जाया जाता, उनकी मौत हो गई। पंचनामे में भी लिखा गया हो, लेकिन ग्रामीण बताते हैं कि गांव के समस्त जल स्त्रोतों के आसपास भारी गंदगी है। स्वास्थ्य विभाग व पीएचई विभाग कभी इन जलस्त्रोतों की सफाई या गंदे पानी की निकासी के लिए ध्यान नहीं दिया जाता है। बीएमओ डॉ. रेखासिंह गौर के अनुसार शुक्रवार को राष्ट्रीय बाल सुरक्षा कार्यक्रम की टीम ढिकवाड़ा गई थी, जिसके बाद दोपहर में होशंगाबाद से भी स्वास्थ्य विभाग के कुछ अधिकारी ढिकवाड़ा पहुंचे थे। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य अमले में शामिल चिकित्सक व अन्य स्टाफ ने ग्रामीणों के बताए अनुसार बीमारों का इलाज किया है तथा जरूरी दवाएं दी हैं। जानकारी अनुसार उल्टी, दस्त व घबराहट से पीडि़त लगभग 20 लोगों को गांव में ही इलाज दिया गया है।

Ad Block is Banned