पानी की मशीन बंद, गर्भवतियों की फजीहत..

पानी की मशीन बंद, गर्भवतियों की फजीहत..

Rahul Saran | Publish: Feb, 15 2018 11:00:00 AM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

-- चार साल पहले लगाई थी आरओ मशीन
-- अस्पताल प्रबंधन भी बेपरवाह

इटारसी। सरकारी अस्पताल में कमीशनखोरी के खेल के लिए गर्भवती महिलाओं के नाम पर आरओ मशीन लगाई तो गई मगर उसके बाद उसे लावारिस छोड़ दिया गया। पिछले कई महीनों से यह मशीन कबाड़े में पड़ी है। मशीन चालू नहीं होने से गर्भवती महिलाओं को परेशान होना पड़ रहा है। हर दिन गर्भवती महिलाएं अस्पताल अधीक्षक कार्यालय के सामने से पानी के लिए पैदल जाते परेशान होते दिखती हैं मगर उन महिलाओं की यह तकलीफ अस्पताल प्रबंधन को नहीं दिख रही है। काम चलाऊ सुविधा देने का यह रवैया सरकारी अस्पताल में अच्छी सुविधा देने के दावों की खुद पोल खोल रहा है।


4 साल पहले लगी मशीन
वर्ष २०१३-१४ पुराने एनआरसी भवन के पास दो नई बिल्डिंग बनाई गई हैं। इनमें से एक में कार्यालय का संचालन होता है और दूसरी बिल्डिंग में सोनोग्राफी जांच, एक्सरे, यूरिन टेस्ट आदि जांचें होती हैं। सोनोग्राफी कक्ष इसी बिल्डिंग में रखने के बाद गर्भवती महिलाओं की सुविधा के लिए वर्ष 2015 में आरओ मशीन लगाई थी


नल स्टेंड से पानी लाना
मशीन लगने के करीब दो साल तक इससे गर्भवती महिलाओं को पीने का पानी मिलता रहा मगर करीब एक साल से यह मशीन बंद पड़ी है। मशीन सुधरवाने को लेकर अस्पताल प्रबंधन भी गंभीर नहीं है। मशीन बंद होने से गर्भवती महिलाओं की खासी फजीहत हो रही हैं। गर्भवती महिलाओं को पानी की जरुरत पडऩे पर पुलिस चौकी के पीछे बने नल स्टेंड तक पैदल ही जाना पड़ता है। अस्पताल प्रबंधन को भी गर्भवती महिलाओं से जुड़ी यह समस्या नजर नहीं आ रही है।


एक नजर में सरकारी अस्पताल
अस्पताल का नाम- डॉ श्यामाप्रसाद मुखर्जी चिकित्सालय
अस्पताल का दर्जा- सिविल अस्पताल
बिस्तरों की संख्या- 200 बिस्तर
ओपीडी संख्या- करीब ५०० प्रतिदिन
प्रतिमाह सोनोग्राफी- करीब २५०


किसने क्या कहा
मशीन तो लगी है मगर उसमें से पानी नहीं आता है। पानी लेने काफी दूर पैदल जाना पड़ता है। मशीन चालू होना चाहिए।
राजकुमारी, निवासी न्यास कॉलोनी


हम दिखवा लेते हैं कि मशीन में क्या दिक्कत है। मशीन को जल्द से जल्द चालू कराया जाएगा ताकि महिलाओं को परेशान ना होना पड़े।
डॉ एके शिवानी, अधीक्षक डीएसपीएम अस्पताल

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned