पानी के लिए महिलाओं ने किया ऐसा काम, पहुंचना पड़ा पुलिस को

पानी के लिए महिलाओं ने किया ऐसा काम, पहुंचना पड़ा पुलिस को

Sandeep Nayak | Updated: 12 Jun 2019, 01:42:48 PM (IST) Hoshangabad, Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

घेरा तहसील कार्यालय, दिया धरना, सड़क पर लगाया जाम

पिपरिया। महीनों से जल संकट से जूझ रहे ग्रामीणों का आक्रोश मंगलवार को जनसुनवाई के दौरान फूट पड़ा। समस्या का निराकरण होते नहीं देख ग्रामीण महिलाओं ने पिपरिया-पचमढ़ी मुख्य मार्ग पर धरना शुुरू कर दिया। हालत बिगड़ते देख तहसीलदार, ठेकेदार, पीएचई एसडीओ मौके पर पहुंचे। जल संकट दूर करने ठोस कार्रवाई का आश्वासन देकर सड़क से महिलाओं को हटाया।
बीजनबाड़ा ग्राम पंचायत में पिछले एक साल से जलसंकट से है लेकिन समस्या का हल नहीं निकल पा रहा है। मंगलवार को जनसुनवाई में पानी की कमी से परेशान महिला, पुरुष और बच्चे तहसील पहुंचे। तहसीलदार को जल आपूर्ति नहीं होने की परेशानी बताई लेकिन ठोस आश्वासन नहीं मिलने पर महिलाओं ने तहसील से रवाना होकर पिपरिया-पचमढ़ी मुख्य मार्ग पर धरना शुरु कर दिया। धरने के कारण कुछ देर वाहनों का जाम लगा रहा अफरा-तफरी का माहौल बना रहा। सूचना पर तहसीलदार, पीएचई एसडीओ, ठेकेदार धरना स्थल पर पहुंचे और जाम खुलवाकर आंदोलनरत पंच, महिला और ग्रामीणों से विस्तार से बातचीत की। ग्रामीणों का कहना था कि पाइप लाइन डल गई है तो पानी घर तक क्यों नहीं पहुंच रहा है। ऐसे करीब ६०० नल कनेक्शन है जिसमें पानी नहीं आ रहा है। ठेकेदार और एसडीओ ने बताया कि ट्रांसफार्मर का रिवाइज्ड स्टीमेंट भेजा गया है जिसकी लागत १४ लाख की स्वीकृति मिलना है। लेकिन इसके पूर्व ग्राम पंचायत से सीधे बिजली कनेक्शन लेकर पानी की सप्लाई बुधवार से शुरु करा दी जाएगी। ग्रामीणों ने कहा राशि की कमी हो तो वे चंदा करके देने को तैयार हैं लेकिन गर्मी में पानी हर हाल में घर तक पहुंचना चाहिए।

बिजली विभाग और ठेकेदार करेंगे समस्या का निदान
तहसीलदार राजीव कहार ने बिजली विभाग और ठेकेदार
को तलब कर ग्राम पंचायत से बिजली कनेक्शन तार डालकर लाइन चालू करने के निर्देश दिए। स्थाई फिटिंग बाद में होगी पहले अस्थाई रूप से लाइन चालू कर गांव की मोटर चालू कर पानी घरों तक पहुंचाने तहसीदार ने निर्देश दिए। इस पर तत्काल अमल भी शुरु हो गया। कार्रवाई देख आंदोलकारियों का आक्रोश कुछ ठंडा हुआ।
टंकी निर्माण में एरिकेशन की आपत्ति
बड़ी योजना बिना तैयारी के पास कर दी गई। निर्माण शुरू होने पर आपतियां आने लगी। दो पेयजल टंकियों का निर्माण शुरु हुआ इसमें एक टंकी तो टॉप लेवल तक बन गई दूसरी टंकी बैंक कॉलोनी क्षेत्र की ग्रांउड लेवल पर है। ठेकेदार का कहना है एरिकेशन ने निर्माण पर आपत्ति लगा दी है इससे टंकी निर्माण अटका है। प्रशासन इस विवाद को निराकृत करे तो निर्माण आगे बढ़े।

ढ़ाई करोड का काम, एक करोड़ पेमेंट अटका
योजना अनुबंध की शर्त के
अनुसार तीन माह पहले शुरु हो जाना था लेकिन योजना अधर में अटकी है। ठेकेदार कौशतुक तिवारी का कहना है शासन स्तर पर एक करोड़ से अधिक का भुगतान अटका है। इसके बावजूद निर्माण कार्य को बंद नहीं किया गया है। बैंक कॉलोनी क्षेत्र में पाइप लाइन डालकर सीधे टयूबबैल से पानी की सप्लाई शुरु कर दी है एक हिस्से में पानी की सप्लाई बिजली कनेक्शन होते ही चालू कर दी जाएगी।
&बीजनबाड़ा में जल संकट है पाइप लाइन डल गई है। बिजली कनेक्शन नहीं होने से पानी मोटर से सप्लाई नहीं हो रहा है। ट्रांसफार्मर लगाने का प्रस्ताव लंबित है। महिलाएं धरने पर सड़क पर बैठ गई उन्हें समझाइश देकर उठाया। ग्रमीणों की परेशानी को देखते हुए ग्राम पंचायत से बिजली कनेक्शन लेकर लाइन चालू करने बिजली विभाग को निर्देश दिए हंै। बुधवार से जल संकट दूर होने की उम्मीद है।
राजीव कहार, तहसीलदार

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned