जलसंकट होने पर निजी नलकूपों को लेकर पंचायतकर्मी कर सकेंगे यह काम

'नपा की तर्ज पर ग्राम विकास करें पंचायतें योजनाओं के क्रियान्वयन पर रखें नजर

By: sandeep nayak

Updated: 04 Apr 2019, 01:22 PM IST

पिपरिया। शहर और ग्राम का विकास कर्मचारियों पर निर्भर है। ग्राम पंचायतों के अधिकारी कर्मचारियों को यह अधिकार दिए गए हैं कि वे सतत सरकारी योजनाओं के क्रियान्वयन पर नजर रखें। अनियमित निर्माण, अतिक्रमण देख तत्काल हस्तक्षेप करें कार्यालय को सूचित करें। नपा की तर्ज पर आप विकास, संपत्ति कर लगाकर ग्राम पंचायतों का विकास करें। यह निर्देश एसडीएम मदन सिंह रघुवंशी ने जनपद पंचायत सभागार में आयोजित बैठक में सचिव, जीआरएस, पीसीओ, स्टॉफ को दिए।
एसडीएम ने सचिव,जीआरएस और पीसीओ को निर्देश दिए कि गेहूं खरीदी में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी। वे समितियों में खरीदी प्रक्रिया पर नजर रखें अनियमितता देखें तो तत्काल उसे रोके और सूचना दें। आंगनबाड़ी केंद्रों में २५ फीसदी ही बच्चों की उपस्थिति होती है इसका प्रतिदिन सत्यापन करें, केंद्रों पर शत प्रतिशत उपस्थिति दर्ज कर भुगतान प्राप्त किया जाता है यह गंभीर अनियमितता है। उचित मूल्य दुकान पर 1-2 तारीख तक राशन कोटा पहुंच जाता है अत: राशन वितरण पर भी सचिव नजर रखें कहीं कोई गड़बड़ी दिखे सेल्समैन को तत्काल रोके और सीईओ अथवा एसडीएम को सूचना दें।

पिछला भूलकर, नए सिरे से निभाएं दायित्व
जनपद पंचायत सीईओ मनीष भारद्वाज ब्लॉक में चल रही योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा की। सीईओ सचिवों से कहा डेढ़ दर्जन से अधिक ग्राम पंचायतों में कर्मकार मंडल हितग्राही पंजीयन नहीं हुए यह आपकी कार्यशैली पर सवाल खड़ा करता है। सचिव अरविंद पाराशर ने कहा पंजीयन के नियमों की पूर्ति नहीं होने से पंजीयन पिछड़े हैं वही पूर्व सीइओ का सचिवों के प्रति समन्वय का तरीका भी ठीक नही था जिससे लक्ष्य कमजोर रहा। सीइओ ने विकास निर्माण कार्य, अन्य योजनाओं पर भी विस्तार से विचार विमर्श कर सख्त निर्देश दिए कि पहले जो चलता था उसे भूल जाए अब नए सिरे से सरकारी की मंशा अनुरुप अपने दायित्व का निर्वाह कर लक्ष्य प्राप्त करे।
... तो निजी टयूबवैल अधिग्रहण करें
गांव में भवन निर्माण के दौरान नियम कायदे नहीं अपनाए जाते है। ऐसे में सचिव बिना अनुमति भवन निर्माण नहीं होने दें निर्माण की तय गाइडलाइन के अनुसार ही मंजूरी दें। नगरपालिका की तरह पंचायत ग्राम विकास के लिए जरुरी टैक्स निर्धारित करें। शांतिवन निर्माण प्रारंभ करे, अतिक्रमण है तो एक दिन पहले सूचना दें राजस्व दल मौके पर पहुंच अतिक्रमण हटाएगा इसके लिए इंतजार न करे।
अतिक्रमण रोकें, कर वसूले
एसडीएम ने कहा मतदान केंद्रों पर पेयजल, बिजली, पंखे, केंद्र की बाउंड्री, परिसर में पेवर ब्लॉक का अनिवार्य रूप से प्रबंध करें। जल स्तर गिरने से अनेक स्थानों पर पानी का संकट गहरा गया है इसका प्रबंध करने निजी नलकूप अधिग्रहण करने की आवश्यकता पड़े तो अधिग्रहण कर मतदान केंद तक पेयजल हर हालत में मुहैया कराएं यह जवाबदारी ग्राम पंचायत कर्मचारियों की होगी।

sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned