एशियन गेम्स में कांस्य पदक विजेता का स्वागत, 06 घंटे में तय किया 05 किमी का सफर

एशियन गेम्स में कांस्य पदक विजेता का स्वागत, 06 घंटे में तय किया 05 किमी का सफर

Sandeep Nayak | Publish: Sep, 09 2018 02:50:06 PM (IST) | Updated: Sep, 09 2018 02:51:14 PM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

शहर में 50 से ज्यादा जगहों पर हुआ सम्मान, शाम 5.30 बजे घर पहुंची हर्षिता

होशंगाबाद। एशियन गेम्स में कांस्य पदक विजेता हर्षिता तोमर शनिवार को पहली बार शहर पहुंची। हर्षिता के स्वागत में मानो पूरा शहर उमड़ पड़ा। भोपाल तिराहे से अपने घर न्यास कॉलोनी तक की लगभग 5 किमी की दूरी तय करने में उन्हेंं 06 घंटे का समय लग गया। शहरवासी भी अपने शहर की बेटी की इस उपलब्धि पर गर्व महसूस कर रहे हैं। यही कारण है कि भोपाल तिराहे से अपने घर न्यास कालोनी तक पहुंचने में 50 से ज्यादा जगहों पर स्वागत किया गया। भोपाल तिराहे से खुली जीप में हर्षिता के साथ उनके परिजन और खेल प्रेमी जुलूस निकालकर रामजी बाबा समाधि पहुंचे। यहां पूजा अर्चना करने के बाद सतरस्ते पर काली मंदिर में पूजन किया। इसके बाद सेठानी घाट पहुंचकर मां नर्मदा का पूजन किया। शाम 5.30 बजे हर्षिता अपने घर पहुंची।

जिला प्रशासन ने सेठानी घाट पर हर्षिता तोमर और सॉफ्ट टेनिस खिलाड़ी आध्या तिवारी के लिए सम्मान समारोह आयोजित किया। इस दौरान कलेक्टर प्रियंका दास ने दोनों खिलाडिय़ों को जिले में चलाए जा रहे बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान का ब्रांड एम्बेसेडर घोषित किया। कलेक्टर दास ने कहा कि दोनों बेटियों ने जिले का नाम रोशन किया है साथ ही इनके परिजन भी बधाई के पात्र हैं जिन्होंने बेटियों के हुनर हो पहचाना और उनके सपनों को पूरा करने का मौका दिया। कलेक्टर ने कहा कि वास्तव में इन दोनों बेटियों से जिले में सभी पालकों को अपनी बेटियों को पढ़ाने और उन्हें आगे बढ़ाने की प्रेरणा मिलेगी। इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीतासरन शर्मा ने कहा कि हर्षिता ने लड़कों को हराकर मेडल जीता है, यह दिखाता है कि लड़कियां लड़कों से आगे बढ रही हैं। डॉ. शर्मा ने अपनी जनसंपर्क निधि से हर्षिता और आध्या को 25-25 हजार रुपए की राशि देने की घोषणा की। इस दौरान जनपद अध्यक्ष संगीता सोलंकी, डीपीओ संजय त्रिपाठी, जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी सतीश भार्गव सहित अन्य सदस्य मौजूद थे।

 

अब ओलंपिक की तैयारी करूंगी: हर्षिता
देश के नाम का ब्लेजर पहनने पर बहुत गर्व महसूस होता है। इस बार ब्रांॅज मेडल मिला है अगली बार गोल्ड मेडल के लिए मेहनत करूंगी। अब और ज्यादा मेहनत से ओलंपिक की तैयारी करुंगी जिससे देश के लिए गोल्ड मेडल ला सकूं।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned