scriptWheat worth 88 crores lying in the open, no lifting | ये कैसी अनदेखी: खुले में पड़ा 88 करोड़ का गेहूं, नहीं हो रहा उठाव | Patrika News

ये कैसी अनदेखी: खुले में पड़ा 88 करोड़ का गेहूं, नहीं हो रहा उठाव

-बारिश में खराब होने की आशंका, खरीदी केंद्रों-मंडियों में नहीं है तिरपाल-पन्नियों के इंतजाम

होशंगाबाद

Updated: April 22, 2022 11:56:49 am

नर्मदापुरम. narmdapuram मौसम विभाग की 48 घंटे पहले की चेतावनी के बाद भी प्रशासन व खरीदी से जुड़े विभाग और अधिकारी नहीं चेते। मौसम के मिजाज गुरुवार से बिगड़े हुए हैं। आसमान में बादल छाए रहे और तेज हवाएं भी चलती रही। देर रात में हल्की बूंदाबांदी भी हुई। लेकिन इसके बाद भी किसानों से खरीदे गए गेहूं को भीगने-खराब होने से बचाने के लिए खरीदी केंद्रों, मंडियों में कोई इंतजाम नहीं हुए। जिले के कुल 202 केंद्रों पर करीब 4 लाख 37 हजार 693 क्विंटल खरीदा गया 88 करोड़ 19 लाख 51 हजार 395 रुपए का गेहूं खुले में पड़ा हुआ था। अगर बारिश होती है तो ये गेहूं भीगकर खराब हो सकता है। इससे शासन-प्रशासन को लाखों-करोड़ों रुपए के नुकसान की आशंका बनी हुई है। वहीं दूसरी तरफ बादलों के कारण गर्मी की मूंग फसल में इल्लियों के प्रकोप को लेकर भी किसानों में चिंता का माहौल है। अगर बारिश होगी तो फसल को फायदा होगा, वरना कीट प्रकोप से फसल को बचाने के लिए किसानों को 12 हजार रुपए लीटर की दवा का अतिरिक्त छिड़काव करना पड़ेगा। गुरुवार को दोपहर से लेकर देर शाम तक 19-20 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से हवाएं चलती रही। नर्मदापुरम का गुरुवार को अधिकतम तापमान 41.6 एवं न्यूनतम तापमान 30.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ, जिसमें मंगलवार-बुधवार के मुकाबले गिरावट रही। लोगों को गर्मी से थोड़ी राहत मिली।

मंडी लाइव....बारिश से गेहूं को नुकसान की आशंका
जिला-संभागीय मुख्यालय की कृषि उपज मंडी परिसर तेज हवाओं से घिरी हुई थी। सीमेंटेड मैदान में किसानों से समर्थन मूल्य पर खरीदा गया करीब 10 हजार क्विंटल से अधिक गेहूं खुले में ढेरों के रूप में पड़ा हुआ था। हवाओं के साथ धूल-मिट्टी गेहूं में मिल रही थी। गेहूं के बड़े-बड़े ढेर किसी रेत के टीलों जैसे दिखाई दे रहे थे। यहां के सभी शेड भी बोरियों में गेहूं से फुल हो चुके थे। आंधी-बारिश से गेहूं को बचाने के लिए यहां तिरपाल, वारदानें और पन्नियों के कोई इंतजाम नहीं थे। यहां खरीदी कर रहे रायपुर सोसायटी के कर्मचारी ने बताया कि किसानों से खरीदा करीब 4 हजार क्विंटल गेहूं खुले मैदान में रखा हुआ है। कुल 6 हजार क्विंटल गेहूं की खरीदी हो चुकी है, लेकिन हम्मालों की कमी के कारण इन्हें बोरियों में पैक भी नहीं कर पा रहे। शेड में भी जगह नहीं है। अगर बारिश होती है तो तिरपाल लाकर और ढंककर बचाने की कोशिश करेंगे। यही स्थिति नर्मदांचल सोसायटी की भी थी। करीब 500 क्विंटल गेहूं खुले में रखा है। यहां गेहूं बेचने आए किसानों ने बताया कि खेत-खलिहान में गेहूं खुले में रख नहीं सकते, इसलिए गेहूं मंडी में लाकर सोसायटी में बेच रहे हैं।

यह है जिले में गेहूं खरीदी की स्थिति
जिले में अब तक 12 हजार 217 पंजीकृत किसानों से समर्थन मूल्य पर 12 लाख 97 हजार 416 क्विंटल गेहूं की खरीदी हो चुकी है। इसमें से 12 लाख 31 हजार 656 क्विंटल गेहूं का परिवहन-भंडारण किया जा रहा था। इसमें गोदाम स्तरीय व्यवस्था में 8 लाख 71 हजार 836 क्विंटल गेहूं ही सुरक्षित है। बाकी का 4 लाख 37 हजार 693 क्विंटल गेहूं खुले में मंडियों-खरीदी केंद्रों के परिसरों में खुले में ढेर के रूप में पड़ा हुआ था। इसका उठाव एवं परिवहन नहीं हुआ है। जो कि संभावित आंधी-बारिश में भीगकर खराब हो सकता है। अगर ऐसा हुआ तो तो 88 करोड़ 19 लाख 51 हजार 395 रुपए कीमत का सरकारी गेहूं भीगकर खराब होने की आशंका बढ़ गई है।
ये कैसी अनदेखी: खुले में पड़ा 88 करोड़ का गेहूं, नहीं हो रहा उठाव
ये कैसी अनदेखी: खुले में पड़ा 88 करोड़ का गेहूं, नहीं हो रहा उठाव
8 लाख 71 हजार 836 क्विंटल गेहूं का ही उठाव हुआ
जिले में किसानों से खरीदा गया कुल 12 लाख 97 हजार 426 क्विंटल गेहूं में से अब तक 21 अप्रेल की स्थिति में 8 लाख 71 हजार 836 क्विंटल गेहूं का ही उठाव व परिवहन हो पाया है। यानी अभी भी 4 लाख 25 हजार 580 क्विंटल गेहूं खरीदी केंद्रों, मंडियों में ही पड़ा हुआ है। इसका उठाव-परिवहन होकर भंडारण होना बाकी है। वर्तमान में मौसम खराब है। आंधी-बारिश से इसके भीगकर खराब होने की आशंका बढ़ गई है।

ये है मौसम विभाग का फीडबैक
मौसम विभाग ने बताया है कि पिछले 24 घंटों के दौरान नर्मदापुरम संभाग के तीनों जिलों में तापमान सामान्य से अधिक रहा। आगामी चौबीस घंटों के दौरान संभाग में वर्षा या गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ सकती है। यलो अलर्ट जारी किया गया है, जिसमें चेतावनी दी गई है गरज के साथ बिजली चमकने, गिरने एवं तेज हवा 40-50 किमी प्रति घंटा के हिसाब से चल सकती है।

15 से 20 दिन की हुई मूंग की फसल
जिले में गर्मी की मूंग फसल 15 से 20 दिन की हो चुकी है। सिंचाई के लिए तवा बांध से नहरों में पानी दिया जा रहा है। दाईं एवं बाईं दोनों तरफ की मुख्य नहरें चालू हैं। जिसमें डोलरिया, सिवनीमालवा, टिमरनी-हरदा सहित इटारसी, माखनगर, सोहागपुर-पिपरिया तरफ के किसानों को एक पलेवा दो पानी दिया जाना है। इसमें से एक पलेवा एक पानी दिया जा चुका है। दूसरा पानी भी शुरू कर दिया गया है। एलबीसी से 4 हजार क्यूसिक व आरबीसी से 800 क्यूसिक पानी चल रहा है। किसानों ने बताया कि वर्तमान में मौसम बिगड़ा हुआ है। बादल के छाए रहने से मूंग फसल में इल्लियों के प्रकोप की आशंका बढ़ रही है। अगर बारिश होगी तो ही फसल को फायदा होगा, वरना नुकसान झेलना होगा। जिसमें कीटनाशक दवाओं का महंगा अतिरिक्त खर्च उठाना पड़ सकता है।

इनका कहना है..
मौसम में आए बदलाव और आंधी-बारिश की आशंका के चलते जिले के सभी केंद्रों के प्रभारियों को खुले में रखे गेहूं को तिरपाल से ढंककर रखने के निर्देश दिए गए हैं। जल्द से जल्द परिवहन व गोदामों में भंडारण कराने के प्रयास किए जा रहे हैं, ताकि कोई नुकसान जैसी स्थिति न बने।
-भारती मेरावी, डिप्टी कलेक्टर व नोडल अधिकारी नर्मदापुरम।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी मस्जिद मुद्दे पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का पहला बयान, केंद्रीय मंत्री भी बोलेज्ञानवापी मामले को लेकर अखिलेश यादव ने हिंदू देवी-देवताओं पर की विवादित टिप्पणीअमरीकी शेयर बाजार धड़ाम, मंदी की आशंका के बीच दो साल की सबसे बड़ी गिरावटIPL 2022 LSG vs KKR : डिकॉक-राहुल के तूफान में उड़ा केकेआर, कोलकाता को रोमांचक मुकाबले में 2 रनों से हरायानोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेरपुलिस में मामला दर्ज, नाराज कांग्रेस विधायक का इस्तीफा, जानें क्या है पूरा मामलाडिकॉक-राहुल ने IPL में रचा इतिहास, तोड़ डाला वार्नर और बेयरेस्टो का 4 साल पुराना रिकॉर्डकर्क सहित इन राशि वालों के लिए धन-कारोबार की दृष्टि से अनुकूल है आज का दिन, पेशेवर यात्राएं होंगी सफल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.