ये छोटी मीठी गोलियां है बड़ी कमाल की, कुछ दिनों में ही ठीक कर देती है बड़ी से बड़ी बीमारियां

एलोपैथी से उपचार कराने में घटा विश्वास, ४० प्रतिशत लोग करा रहे होम्योपैथी इलाज

By: poonam soni

Updated: 10 Apr 2019, 11:56 AM IST

होशंगाबाद. होम्योपैथिक की दवाई सुनकर सबसे पहले ख्याल छोटी डब्बी और उसमें साबुदाने जैसी गोलियों का आता है। ये मीठी गोलियां लेने के लिए डॉक्टर के सामने घंटो खड़े रहते थे। लेकिन यही मीठी और छोटी गोलियां बड़ी बड़ी बीमारियों का इलाज कर रहीं है। एलोपैथी दवाओं के बढ़ते बाजार में लोगों का इस महंगे इलाज से मोह कम होता जा रहा है। उनका रूझान सस्ते और होम्योपैथी की तरफ बढ़ रहा है। इसकी मीठी गोलियों से बीमार खुद को तंदुरुस्त करने में जुटे हैं। इसका स्वाद भी लोगों को भाने लगा है। स्थिति यह है कि एलोपैथी के साथ-साथ लोग होम्योपैथी की दवाएं भी लेते हैं ताकि बीमारी जल्दी ठीक हो। जिला अस्पताल स्थित होम्योपैथिक औषधालय की डॉक्टर शुभा दीक्षित का कहना है कि अब यहां भी ओपीडी की संख्या बढ़ रही है। पहले जहां हर दिन २५ मरीज पहुंचते थे, वहीं अब यह संख्या बढ़कर ३५ हो गई है। अभी 1309 नए मरीजों का इलाज यहां चल रहा है।
एलोपैथी में कुछ समय के लिए दवा : फिलहाल शहर के 40 फीसदी लोगों को होम्योपैथी पर विश्वास है। लोगों के अनुसार एलोपैथी में जहां बीमारी को कुछ समय के लिए दबा दिया जाता है या यूं कहें की जब तक दवा खाएं तब तक ठीक रहते हैं। वहीं होम्योपैथी बीमारी को जड़ से खत्म करती है। बच्चों, महिलाओं और बुजुर्गों पर दवाओं का जल्दी असर होता है।
इलाज का तरीका बदला
होम्योपैथी डॉ. शुभा दीक्षित ने बताया कि वर्तमान में इलाज का तरीका बदल गया है। पहले जहां रोग दूर करने में समय लगता था, अब मेडिसिन कॉम्बीनेशन के कॉन्सेप्ट को होम्योपैथी में शामिल किया गया है। इसके कारण मरीज की एक साथ कई बीमारियों को ठीक किया जा सकता है। इससे इलाज का समय भी कम हो चुका है। इसमें सबसे ज्यादा त्वचा संबंधी, महिला रोग संबंधी मरीज यहां पहुंचते हैं।
किस बीमारी का होता है इलाज
सोमवार- बीपी
मंगलवार- संधिवात, प्रामवात, अर्थराइटिस्ट
बुधवार- मधुमेह
गुरूवार- अर्श, पाइल्स
शुक्रवार- रक्तालपत्ता
शनिवार- गठिया एवं वात रोग, लंबे समय का बुखार, पेट से जुड़ी समस्या, अनिद्र, हड्डियों का दर्द

Show More
poonam soni
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned