CBI को चंडीगढ़ पुलिस की रिश्वतखोर इंस्पेक्टर की तलाश, घर और दफ्तर सील

CBI को चंडीगढ़ पुलिस की रिश्वतखोर इंस्पेक्टर की तलाश, घर और दफ्तर सील

 

By: Bhanu Pratap

Published: 30 Jun 2020, 06:12 PM IST

चंडीगढ़। रिश्वतखोरी करने पर केन्द्रीय जांच ब्यूरी (सीबीआई) ने चंडीगढ़ पुलिस की इंस्पेक्टर जसविंदर कौर का घर और कार्यालय सील कर दिया है। उन्हें आज तीन बजे सीबीआई ने पेश होने के लिए कहा था, लेकिन वे नहीं आई। उनका फोन भी बंद है। सीबीआई उन्हें तलाश कर रही है। इसके बाद चंडीगढ़ प्रशासन ने इंस्पेक्टर को थाना मनीमाजरा के एसएचओ पद से हटा दिया। उनके स्थान पर ट्रैफिक में तैनात इंस्पेक्टर नीरज सरना को एसएचओ मनीमाजरा बनाया गया है।

क्या है मामला

मनीमाजरा निवासी गुरदीप सिंह ने सीबीआई को शिकायत दी थी कि एसएचओ जसविंदर कौर ने उसके खिलाफ आई एक शिकायत से उसे बचाने के लिए पांच लाख रुपये की रिश्वत मांगी है। जसविंदर ने उसे बताया था कि उसके खिलाफ किसी ने शिकायत दी है कि गुरदीप ने नौकरी लगवाने के लिए उससे दस से 15 लाख रुपये मांगे है। गुरदीप ने बताया कि जसविंदर ने उसे केस से बचाने के लिए पांच लाख रुपये रिश्वत मांगी। दोनों के बीच डील फिक्स हो गई। इसके बाद गुरदीप ने इसकी शिकायत सीबीआई को दे दी। जब जसविंदर ने किसी तीसरे व्यक्ति भगवान सिंह को रिश्वत की पहली किश्त एक लाख रुपये लेने के लिए भेजा तो सीबीआई ने उसे रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार कर लिया। सीबीआइ ने उसे पंजाब के मोहाली जिले के पास से रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है। भगवान सिंह ने पूछताछ में कबूल किया है कि वह एसएचओ जसविंदर कौर के कहने पर ही पैसे लेने के लिए आया था।

सीबीआई के समक्ष पेश नहीं हुई जसविंदर कौर

इसके बाद सीबीआई ने मनीमाजारा की एसएचओ जसविंदर कौर के ऑफिस और सेक्टर-22 स्थित घर को सील कर दिया। मनीमाजरा थाने में पूरी रात सीबीआई ने जांच की। मंगलवार सुबह सर्च पूरी हुई। इसके साथ ही 30 जून को अपराह्न तीन बजे तक उन्हें सीबीआई के कार्यालय में उपस्थित होने के लिए भी कहा। इंस्पेक्टर ने सीबीआई के समक्ष आना उचित नहीं समझा। सीबीआई ने पांच लाख रूपये रिश्वत लेने के मामले में जसविंदर कौर के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

Show More
Bhanu Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned