व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव है या नहीं दिल की धड़कनों से चलेगा पता, रिपोर्ट में किया गया दावा

  • Study on Coronavirus : एक ऐप की ओर से 40 लाख से ज्यादा डेटा के अध्ययन के आधार पर तैयार की गई रिपोर्ट
  • शोधकर्ताओं का दावा है कि 100 से ज्यादा हार्ट रेट होने पर खतरे की संभावना ज्यादा रहती है

By: Soma Roy

Published: 09 Jan 2021, 11:22 PM IST

नई दिल्ली। कोरोना का नाम सुनते ही लोग खौफ खाने लगते हैं। ऐसे में हॉस्पिटल जाकर जांच कराने की उनकी हिम्मत नहीं होती है। ऐसे में इसकी पुष्टि नहीं हो पाती है कि व्यक्ति वाकई कोरोना संक्रमित है या नहीं। मगर क्या आपको पता है कोरोना पॉजिटिव होने का पता हार्ट बीट से भी लगाया जा सकता है। ऐसा हम नहीं, बल्कि 'कोविड-19 सिम्पटम्स स्टडी एप'की ओर से 40 लाख से ज्यादा डेटा के अध्ययन के जरिए दावा किया गया है। शोधकर्ताओं का दावा है कि दिल की धड़कनों की गति से पता लगाया जा सकता है कि व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव है या नहीं।

मालूम हो कि कोविड-19 के मामले और ब्रिटेन में इसका नया स्ट्रेन तेजी से फैल रहा है। ऐसे में दुनियाभर के शोधकर्ता हर रोज नए—नए शोध कर रहे हैं। इसी में खुलासा हुआ कि हार्ट बीट में असामान्य बदलाव कोरोना पॉजिटिव होने का संकेत हो सकता है। ऐप के शोधकर्ताओं की मानें तो कोविड-19 में इंसान की धड़कन 100 बीट्स प्रति मिनट के ऊपर तक जा सकती है। पल्स बीट की एक रेगुलर रिदम होती है। अगर आपका हार्ट रेट 60 से 100 बीट्स प्रति मिनट है तो सब सामान्य है, लेकिन अगर हार्ट रेट 100 से ज्यादा जा रहा है तो ये खतरे की निशानी हो सकती है।

हार्ट बीट से कोरोना संक्रमण की पहचान के लिए एक्सपर्ट्स ने बताया कि ऐसा करने से कम से कम पांच मिनट पहले आराम करें। इसके बाद अंगूठे के बगल वाली और बीच वाली उंगली से अपनी पल्स रेट की जांच करें। इस दौरान कलाई की नस या गर्दन के पास 'विंड पाइप' को हल्के से प्रेस करें। हार्ट बीट को 30 सेकेंड तक काउंट करें और फिर उसे 2 से गुणा कर दें। ऐसा करने पर आपकी हार्ट बीट का सही रेट सामने आ जाएगा। इसी के जरिए आप पता लगा सकते हैं कि आपके दिल की गति सामान्य है या असमान्य।

coronavirus
Show More
Soma Roy Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned