जनता के लिए हीरो साबित हुए दो एंबुलेंस ड्राइवर, पार्थिव देह को मिजोरम पहुंचाने के लिए तय की 3 हजार किमी की दूरी

  • आइजल के मॉडल वेंग में रहने वाले 28 वर्षीय विवियन लालरेमसांगा का 23 अप्रैल को चेन्नई में निधन हो गया था। देशव्‍यापी लॉकडाउन के बीच उनके पार्थिव शरीर को आइजल तक पहुंचाना कठिन चुनौती थी।

By: Piyush Jayjan

Published: 29 Apr 2020, 05:10 PM IST

नई दिल्ली। तमिलनाडु ( Tamilnadu ) के एम्बुलेंस के दो ड्राइवरों लोगों के लिए प्रेरणा बन गए हैं। दरअसल इन दोनो ड्राइवर्स ने एक युवक के पार्थिव शरीर को आइजल तक पहुंचाया। दोनों एंबुलेंस ड्राइवर ने इसके लिए तकरीबन 3 हजार किमी से अधिक की दूरी तय की।

ग्राम पंचयात का अनोखा ऑफर, लॉकडाउन का पालन करने पर इनाम में मिलेगा सोना

मिजोरम ( Mizoram ) के निवासी इस युवक की पिछले सप्‍ताह हार्ट अटैक के कारण चेन्‍नई में मौत हो गई थी। दिल को छू लेने वाले इस वायरल वीडियो में आइजल की सड़कों पर एंबुलेंस को जाते हुए देखा जा सकता है और कतार में खड़े लोग ताली बजाकर इन दोनों एंबुलेंस ड्राइवरों की प्रशंसा कर रहे हैं।

मिजोरम में भी लॉकडाउन ( Lockdown ) लागू है। एक अन्‍य वीडियो में एंबुलेंस को घर के बार खड़ा दिखाया गया है और लोग ताली बजाकर दोनों ड्राइवरों की हौसलाफजाई कर रहे हैं। सीएम ज़ोरमथांगा ने अपने ट्वीट में लिखा, ''मिजोरम इस तरह रियल लाइफ हीरोज का स्‍वागत करता है क्‍योंकि हम मानवता और राष्‍ट्रीयता पर यकीन करते हैं।

गिलहरी ने किया बिल्ली की नाक में दम, सोशल मीडिया पर वायरल हुआ वीडियो

इसके साथ ही सीएम ने आगे लिखा- दिल की गहराइयों से आपको धन्‍यवाद. आपने अभी दिखाया है कि हर मिजो दिल की धड़कन का क्या मतलब है! देशव्‍यापी लॉकडाउन के बीच उनके पार्थिव शरीर को आइजल तक पहुंचाना कठिन चुनौती थी। लेकिन इसके बावजूद भी दोनों एंबुलेंस ड्राइवर ने इस चुनौती को स्वीकार किया।

Piyush Jayjan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned