चोरी छिपे डेढ़ लाख तक में बिक रहा है कोरोना से ठीक हुए मरीजों का खून, हुआ खुलासा

  • Blood Plasma Selling on Darb Web : कोरोना वायरस की वैक्सीन तक वेबसाइट पर है उपल्ब्ध, hydroxychloroquine एंटी वायरल दवा भी है शामिल
  • मुनाफाखोर कोरोना वायरस की दवा के नाम पर लोगों को दे रहे हैं धोखा

By: Soma Roy

Updated: 08 May 2020, 04:40 PM IST

नई दिल्ली। कोरोना वायरस (Coronavirus) की जद में आने से पूरी दुनिया परेशान है। इससे छुटाकारा पाने के लिए हर रोज नए शोध किए जा रहे हैं। इसी बीच कुछ मुनाफाखोर सीक्रेट वेबसाइट पर ब्लड प्लाज्मा (Blood Plasma) को बेचकर मुनाफा कमा रहे हैं। एक शख्स ने इसी के जरिए पैसा कमाने का दावा किया है। बताया जाता है वेबसाइट पर चोरी छिपे डेढ़ लाख रुपए तक में एक लीटर खून बेचा जा रहा है।

ये सीक्रेट काम डार्क वेब (Dark Web) के तहत हो रहा है। ये इंटरनेट की दुनिया में ऐसी जगह होती हैजिसके बारे में बहुत ही कम लोगों को पता होता है। इनमें ड्रग्स जैसी खतरनाक चीजें तक बेची जाती हैं। कोरोना महामारी के दौरान डार्क वेब पर वायरस डिटेक्‍टर्स से लेकर वैक्‍सीन तक बेची जा रही है। इसके अलावा चोरी से कोरोना से ठीक हो चुके पेशेंट्स के खून भी बेचे जा रहे हैं।

Agartha नाम की एक डार्क वेब मार्केट पर 'कोरोना वायरस के खिलाफ इम्‍युनिटी के लिए रिकवर्ड पेशेंट्स का प्‍लाज्‍मा' लिस्‍ट किया गया है। इसके सेलर ने दावा किया कि पहले उसने 25ml प्‍लाज्‍मा से शुरुआत की थी। इसके बाद उसने 50ml, 100ml, 500ml के पैकेट्स भी लिस्‍ट किए। अब तक वह करीब 2.036 बिटक्‍वाइंस (10.86 लाख रुपये) में एक लिटर खून बेच चुका है।

इतना ही नहीं Agartha पर 'कोरोना वायरस की वैक्‍सीन' भी 34,751 रुपये में बेची जा रही है। Pax Romana नाम की साइट पर कोरोना से छुटकारा दिलाने वाले 20 कैप्‍सूल्‍स के पैकेट 43 डॉलर यानी करीब 3,291 रुपये में उपलब्‍ध है। इसी तरह hydroxychloroquine और favipiravir जैसी एंटी वायरल दवाएं भी बेची जा रही हैं। इनके दाम 23,000 रुपये से लेकर लगभग डेढ़ लाख रुपए के बीच हैं।

coronavirus
Show More
Soma Roy
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned