China ने बनाया दुनिया की सबसे तेज दौड़ने वाली ट्रेन, 600KM/H की है रफ्तार !

बीते दिनों चीन (China) ने 600 किमी प्रति घंटे से गति से दौड़ने वाली ट्रेन (High speed Train) का सफल परीक्षण किया है। बताया जा रहा है ये दुनिया की सबसे तेज चलने वाली ट्रेन (world's fastest train) बन चुकी है।

 

By: Vivhav Shukla

Published: 24 Jun 2020, 04:30 PM IST

नई दिल्ली। दुनिया की सबसे तेज स्पीड से चलने वाली ट्रेन (world fastest train) जापान (Japan) के पास है। जापान ने एक मैगनेटिक ट्रेन (Magnetic train) बनाई थी जो की 590 किलोमीटर प्रतिघंटे के रफ्तार से चलती है लेकिन अब चीन (China) इससे एक कदम उपर जा चुका है।

अश्लीलता फैलाने वाले लाइवस्ट्रीमिंग App पर सख्त हुआ China, 10 को मिली सजा !

दरअसल, इन दिनों चीन बहुत ही तेज गति से चलने वाली ट्रेन (High speed train) को दुनिया के सामने लाने में जुटा हुआ है। यह ट्रेन दुनिया की सबसे तेज ट्रेन मानी जा रही है और यह दिल्ली से मुंबई (Delhi to mumbai ) के बीच की दूरी 2.5 घंटे से भी कम के समय में तय कर सकती है। यानी एक घंटे में 600 KM से भी अधिक ऱफ्तार। चीन के इस परीक्षण के बाद लोगों का कहना है कि वे अब धरती पर ही हवाई यात्रा का लुफ्त उठा सकते हैं।

गरीबों के बच्चे भी कर सकें ऑनलाइन पढ़ाई, इसलिए लोगों ने डोनेट किए फोन

एक रिपोर्ट के मुताबिक शंघाई में टोंगजी यूनिवर्सिटी (Tongji University in Shanghai) पर मैगलेव रेलवे लाइन (Maglev railway line) पर एक हाई स्पीड मैगलेव टेस्ट व्हीकल की सफलतापूर्वक परीक्षण किया जिसकी 600 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड के लिए डिजाइन किया गया है।

अब Japan के पास है दुनिया का सबसे तेज Supercomputer, जानें क्या है खासियत?

इस शोध के प्रमुख डियांग सानसन ने बताया कि 1.5 किलोमीटर लंबे मैगलेव टेस्ट ट्रैक पर इस ट्रेन के प्रोटोटाइप की पहला डायनामक ऑपरेशन ट्रायल किया गया। उन्होंने बताया कि हमने सभी डिजाइन की आवश्यकताओं और अपेक्षा के तकनीक पहलुओं का हासिल कर लिया गया। ये बहुत ही जल्द दुनिया के सामने होगा।

School ने 13 साल के बच्चे को दिया बेतुका होमवर्क, कहा- ‘प्लान करो खुद का अंतिम संस्कार’

डियांग ने आगे बताया कि दुनिया के सामने लाने ते पहले अभी इसके तमाम तरह के टेस्ट किए जाने हैं जिसमें सालों का समय लग सकता है। उसी के बाद इसका व्यवसायिक उपयोग संभव है। उन्होंने कहा कि चीन का लक्ष्य है कि साल 2025 तक वह 600 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से चलने वाली ट्रेनों का व्यवासायिक तौर पर उपयोग शुरू कर दे।

एक ऐसे विधायक जो Remote Area में जाकर करते हैं लोगों का फ्री इलाज, हमेशा साथ रखते हैं दवाइयां

बता दें चीन में बुलेट ट्रेनों (Bullet trains) की अधिकतम गति 300 किलोमीटर प्रति घंटा है। जबकि हवाई यात्री जहाजों की अधिकतम गति 800 किलोमीटर प्रतिघंटा है। ऐसे में यह मैगलेव ट्रेन का एक अलग ही एहसास होने वाला है।

Vivhav Shukla
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned