कोरोना से इंसानों को ही नहीं जानवरों को भी खतरा, स्टडी में हुआ खुलासा

  • Study On Coronavirus : कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने एक अध्ययन के जरिए इस बात का किया दावा
  • गोरिल्ला, काले लंगूर आदि पशुओं में कोरोना संक्रमण का ज्यादा जोखिम

By: Soma Roy

Published: 26 Aug 2020, 07:07 PM IST

नई दिल्ली। अभी तक माना जा रहा था कि कोरोना संक्रमण (Coronavirus) इंसानों में ही हो रहा है। मगर वैज्ञानिकों के नए दावे ने सबको हैरत में डाल दिया है। दरअसल एक नई स्टडी  (New Study) में दावा किया गया कि कोविड-19 का खतरा जानवरों में भी है। यह बात अमेरिका में कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय (यूसी) डेविस के वैज्ञानिकों ने एक नए अध्ययन में कही है।

अध्ययन के मुताबिक दुलर्भ जानवरों जैसे-पश्चिमी गोरिल्ला, ऑरंगुटन और गाल पर सफेद बाल वाले काले लंगूर आदि में वायरस से संक्रमण की ज्यादा संभावना है। क्योंकि ये अतिसंवेदनशील होते हैं। इसके अलावा समुद्री स्तनधारियों जैसे ग्रे व्हेल और बॉटलनोज डॉल्फिन के साथ-साथ चीनी हैम्स्टर में भी वायरस के उच्च जोखिम की आशंका है। वैज्ञानिकों ने पशुओं पर कोरोना संक्रमण के प्रभाव को बारीकी से जांचने के लिए जीनोमिक विश्लेषण का उपयोग किया। इसी के जरिए उन्होंने एसीई-2-2 रिसेप्टर प्रोटीन की संरचना की तुलना की। उन्होंने जीवों की 410 विभिन्न प्रजातियों की कोशिकाओं पर ये अध्ययन किया।

एक पत्रिका में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक एसीई-2 सामान्य रूप से कई अलग-अलग प्रकार की कोशिकाओं और ऊतकों में पाया जाता है। ये नाक, मुंह और फेफड़ों की बाहरी परत को शामिल करने वाली कोशिकाएं हैं। अध्ययन के प्रमुख लेखक हैरिस लेविन का कहना है कि वे ऐसी प्रतिक्रियाओं पर नजर रख रहे हैं, जो महामारी के दौरान पशु और मानव स्वास्थ्य दोनों की रक्षा करती हैं। शोधकर्ताओं ने घरेलू पशुओं पर भी रिसर्च की। जिसमें पाया कि बिल्लियों, मवेशियों और भेड़ों में कोरोना का खतरा मध्यम स्तर का है। जबकि कुत्तों, घोड़ों में कम जोखिम है।

coronavirus COVID-19 virus
Show More
Soma Roy Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned