कोरोना ने छीन ली इन मजदूरों की रोजी-रोटी, लॉकडाउन में हजारों KM पैदल चल घर लौटने को मजबूर

  • coronavirus ने छीन लिया हजारों दिहाडी मजदूरों का रोजगार
  • लॉकडाउन में रिक्शे, पैदल हजारों KM दूर घर लौट रहे मजदूर
 

Vivhav Shukla

26 Mar 2020, 03:48 PM IST

नई दिल्ली। चीन के वुहान शहर में पैदा हुआ कोरोना वायरस(coronavirus) अब लगभग पूरी दुनिया भर में फैल चुका है। इस वायरस के प्रकोप से लगभग 21,308 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि करीब 5 लाख लोग इससे संक्रमित पाए गए हैं।

 
lockdown4.jpg

भारत में भी कोरोना की वजह से हाहाकार मचा हुआ है। यहां 600 से अधिक लोग इस वायरस के संक्रमण से ग्रसित हैं। वहीं 13 लोगों की मौत हो चुकी है।

lockdown3.jpg

कोरोना से होने वाली तबाही से लोगों को बचाने के लिए सरकार ने पूरे देश में लॉकडाउन (lockdown) का एलान कर दिया है। ये लॉकडाउन 14 अप्रैल तक चलने वाला है।

coronavirus

लॉकडाउन के चलते सड़कों पर सन्नाटा पसरा है। लेकिन कुछ मजबूर लोग अब भी सड़को पर दिखाई दे रहे हैं। ये वो लोग हैं जिनको शहर में रोटी के लिए जूझना पड़ रहा है। 

lockdown_1.jpg

ऐसे में इन मजदूरों ने लॉकडाउन में भी अपने घर जाने का फैसला कर लिया है। अपने परिवार का पेट पालने के लिए अपने-अपने घरों से सैकड़ों किलोमीटर दूर रहने वाले हजारों मजदूर जैसे तैसे वापसी के लिए रवाना हो चुके हैं। कोई पैदल जा रहा है, कोई साइकिल से तो कोई रिक्शे से ही चल पड़ा है। इन सभी को उम्मीद है कि शहर से निकल अपने गांव जाकर कम से कम भूखे नहीं मरेंगे।

lockdown_1_1.jpg

सरकार ने देश में 21 दिनों का लॉकडाउन तो कर दिया लेकिन शायद वो भूल गई ये मजदूर इन 21 दिनों में कोरोना से बच जाएगें लेकिन शायद भूख से अपना दम तोड़ दे। सरकार को देश में लॉकडाउन करने से पहले इनके बारे में एक बार जरूर सोचना चाहिए था।

Vivhav Shukla
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned