'मंगल पांडे' एक ऐसा नाम, जिसने अंग्रेजी हुकूमत को हिलाकर रख दिया था...

'मंगल पांडे' एक ऐसा नाम, जिसने अंग्रेजी हुकूमत को हिलाकर रख दिया था...

Prakash Chand Joshi | Updated: 19 Jul 2019, 07:00:00 AM (IST) हॉट ऑन वेब

  • मंगल पांडे का उत्तर प्रदेश के बलिया में हुआ था जन्म

नई दिल्ली: 19 जुलाई 1827 का दिन, इस दिन एक ऐसे वयक्ति ने जन्म लिया जिसने अंग्रेजों की नाक में दम करके रखा और नाम था मंगल पांडे ( Mangal Pandey )। उन्होंने अपनी हिम्मत और हौसले के दम पर समूची अंग्रेजी हुकूमत के सामने पहली चुनौती पेश की। 'भारतीय स्वाधीनता संग्राम' में अग्रणी योद्धाओं के रूप में मंगल पांडे का का नाम लिया जाता है। उन्होंने ऐसी क्रांति की जिसकी ज्वाला ने अंग्रेज ईस्ट इंडिया कंपनी ( East India company ) के शासन को बुरी तरह से हिला कर रख दिया था।

mangal pandey

दिया ये नारा

उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh ) के बलिया ( Ballia ) जिले के नगवा गांव में मंगल पांडे का जन्म हुआ। उनकी जुवां से सबसे पहले निकला था 'मारो फिरंगी को' इस नारे को मंगल पांडे ने गुंजाया था। ईस्ट इंडिया कंपनी की स्वार्थी नीतियों के कारण मंगल पांडे के मन में अंग्रेजी हुकुमत के प्रति पहले ही नफरत थी। जब कंपनी की सेना की बंगाल इकाई में ‘एनफील्ड पी.53’ राइफल में नई कारतूसों का इस्तेमाल शुरू हुआ तो इन कारतूसों को बंदूक में डालने से पहले मुंह से खोलना पड़ता था। सैनिकों के बीच ऐसी खबर फैल गई कि इन कारतूसों को बनाने में गाय और अन्य जानवरों की चर्बी का प्रयोग किया जाता है जो कि हिन्दू और मुसलमानों दोनों के लिए गंभीर और धार्मिक विषय था।

mangal pandey

इस अफवाह ने सैनिकों के मन में अंग्रेजी सेना के विरूद्ध आक्रोश पैदा कर दिया। इसके बाद 9 फरवरी 1857 को जब यह कारतूा देशी पैदल सेना को बांटा गया तब मंगल पांडेय ने उसे न लेने को लेकर विद्रोह जता दिया। इस बात से गुस्साए अंग्रेजल अफसर द्वारा मंगल पांडे से उनके हथियार छीन लेने और वर्दी उतरवाने क का आदेश दिया जिसे मानने से मंगल पांडे ने इनकार कर दिया। मंगल पांडे ने राइफल छीनने के लिए आगे बढ़ने वाले अंग्रेज अफसर मेजर ह्यूसन पर आक्रमण कर दिया। मंगल पांडेय ने बैरकपुर छावनी में 29 मार्च 1857 को अंग्रेजों के विरुद्ध विद्रोह का बिगुल बजा दिया।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned