डॉक्टर को मोबाइल की रोशनी में करनी पड़ी सर्जरी, यहां पढ़ें पूरा मामला

बीएचयू अस्पताल में दांत का एक गंभीर ऑपरेशन चल रहा था, तभी बिजली गुल हो गई।
डॉक्टरों ने अपने अपने मोबाइल की टॉर्च जला कर ऑपरेशन को कंप्लीट किया।
इस ऑपरेशन की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया में वायरल हो रही है।

By: Shaitan Prajapat

Updated: 17 Mar 2021, 04:40 PM IST

नई दिल्ली। डॉक्टर को भगवान का दर्जा दिया गया है। डॉक्टर कई मरीजों का ऑपरेशन और ट्रीटमेंट कर उनकी जान बचाते बचाते हैं। पिछले दिनों महामारी कोरोना काल के दौरान डॉक्टरों ने दिन रात मरीजों की सेवा की। इस दौरान कई डॉक्टर महीनों तक अपने घर और परिवार के लोगों से दूर है। दुनियाभर में इन डॉक्टरों के काम की तारीफ की गई। हाल ही में बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के अस्पताल से एक अनोखा मामला सामने आया है। पूर्वांचल का एम्स कहे जाने वाले बीएचयू के ट्रॉमा सेंटर इन दिनों सुर्खियो में छाया हुआ है। खबरों के अनुसार, बीएचयू अस्पताल में दांत का एक गंभीर ऑपरेशन चल रहा था, तभी बिजली गुल हो गई। इस दौरान जनेट भी काम नहीं कर रहा था। ऐसे में आपातकाल में डॉक्टरों की टीम ने अपने अपने मोबाइल की टॉर्च जला कर ऑपरेशन को कंप्लीट किया। इस ऑपरेशन की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया में वायरल हो रही है। इसके बाद मामले ने तूल पकड़ लिया।

 

यह भी पढ़े :— ये है ब्लैक एलियन! टैटू के चक्कर में कर ली जिंदगी खराब, अब बोलने में हो रही है परेशानी


मोबाइल टॉर्च की रोशनी में सर्जरी
सोशल मीडिया पर वायरल फोटो को बीएचयू अस्पताल के ट्रामा सेंटर परिसर में स्थित दंत चिकित्सा विज्ञान संकाय की बताया जा रहा है। इन तस्वीरों में आप देख सकते है कि अंधेरे में मोबाइल टॉर्च की रोशनी में डॉक्टर सर्जरी करते नजर आ रहे है। इस बारे में बीएचयू के दंत चिकित्सा विज्ञान संकाय के प्रमुख प्रोफेसर विनय कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि घटना की जानकारी मंगलवार सुबह हुई है और इस पर जांच शुरू कर दी है। प्रोफेसर विनय कुमार श्रीवास्तव का कहना है कि लाइट जाने का नोटिफिकेशन पहले से ही दिया गया था। उस दौरान ओटी लगाई गई या ओटी में क्या प्रॉब्लम आई है। इस पर ध्यान दिया जा रहा है नोटिस के बाद ही सब लोगों से पूछताछ की जाएगी और फिर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

अस्पताल प्रशासन में हड़कंप
जनरेटर होने के बावजूद आपरेशन थिएटर में बिजली का नहीं रहना लापरवाही मानी जा रही है। इससे एम्स की सुविधाएं प्रस्तुत करने वाले बीएचयू की स्वास्थ्य सुविधाओं पर सवालिया निशान खड़ा हो रहा है। जैसे ही यह घटना सामने आई अस्पताल प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है। तस्वीरें सामने आने के बाद लोग अपनी अपनी राय दे रहे है। लोगों को कहना है कि डॉक्टरों से इस तरह की लापरवाही की उम्मीद नहीं थी। ऐसा करना मरीजों की जान के साथ खिलवाड़ करना है।

Shaitan Prajapat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned