इंग्लैंड के पास है विश्व का सबसे बेस्ट ग्राउंड कवर सिस्टम, लेकिन...

इंग्लैंड के पास है विश्व का सबसे बेस्ट ग्राउंड कवर सिस्टम, लेकिन...

Prakash Chand Joshi | Updated: 14 Jun 2019, 04:40:44 PM (IST) हॉट ऑन वेब

  • अब तक 4 मैच धूल चुके हैं बारिश से
  • गांगुली ने कही ये बात
  • बारिश के कारण नहीं हो पा रहे मैच

नई दिल्ली: वर्ल्ड कप ( World Cup ) का आगाज इंग्लैंड में हो चुका है। जहां अब तक कई मैच खेले जा चुके हैं, तो अहम मैच खेले जाने अभी बाकी हैं। इन्हीं के बीच कई मैच बारिश में धूलते हुए भी नजर आए। अब तक बारिश की वजह से विश्व कप 2019 ( World Cup 2019 ) के 4 मैच नहीं हो पाए। ऐसे में आईसीसी और इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड की जमकर आलोचना हो रही है। वहीं इंग्लैंड के पास विश्व का सबसे बेस्ट ग्राउंड कवर सिस्टम है, लेकिन वो इसको इस्तेमाल नहीं कर रही है। चलिए इसके पीछे का कारण जानते हैं।

 

icc world cup 2019

इसलिए नहीं हो पा रहा इस्तेमाल

इंग्लैंड ( England ) के पास जो सिस्टम है उसमें एक बेहतरीन कवर का इस्तेमाल किया जाता है, जिसे 'Protection Sleeve' कहते हैं। न सिर्फ इससे पिच को ढक सकते हैं, बल्कि इससे पूरे मैदान को कवर किया जा सकता है। ये एक प्रकार के पॉलिएस्टर से बना होता है जो कि इसे पारदर्शी बनाता है। इस सिस्टम में कम लोगों की जरूरत होती है। इसे फैलाने से लेकर समेटने में कम समय लगता है। साथ ही सुखाने में भी बचत होती है। वहीं इस बार विश्व कप के मैचों में देखा गया है कि पूरे मैदान को नहीं ढका जा रहा है। इसके पीछे की वजह बताई जा रही है समय और मानव संसाधन की कमी।

icc world cup 2019

इस पूर्व क्रिकेटर ने दे डाली सलाह

भारतीय पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ( Sourav Ganguly ) भारत और न्यूजीलैंड के बीच रद्द हुए मुकाबले से बेहद नाराज नजर आए। ऐसे में उन्होंने आईसीसी ICC CC ) को सलाह दे डाली कि हम पूरे ईडन गार्डन्स में मैदान को कवर से ढकने का काम करते हैं और ये कवर इंग्लैंड से ही लाए गए हैं। भारत में इन्हीं का इस्तेमाल किया जाता है और इससे जैसे ही बारिश रुकती है 10 मिनट में मैच शुरु किया जा सकता है। इंग्लैंड को तो ये आधी कीमत पर मिलता है। ऐसे में इंग्लैंड के मैदानों पर इसका इस्तेमाल होना चाहिए। गौरतलब, है कि वर्ल्ड कप क्रिकेट जगत का एक बड़ा टूर्नामेंट हैं और ऐसे में किसी भी तरह की लापरवाही या कमी एक बड़ा सवाल खड़ा करती है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned