ऐसा Airport जहां बिना उड़ान भरे लें सकते हैं हवाई यात्रा का एहसास, जानें कैसे मिलेगा Ticket ?

हवाई यात्रा का एहसास (air travel without flying) कराने के लिए ताइवान (Taiwan) में फेक फ्लाइट(Fake Flight) प्रोग्राम शुरू हुआ है। प्रोग्राम में शामिल होने वाले लोगों को एयरपोर्ट (airport ) पर जाकर चेक इन करना होगा, पासपोर्ट और सुरक्षा जांच के बाद बोर्डिंग पास जारी होगा। इसके बाद प्लेन में बैठ सकते हैं।

By: Vivhav Shukla

Published: 06 Jul 2020, 04:03 PM IST

नई दिल्ली। कोरोनावायरस (Coronavirus) के कारण पूरी दुनिया थमी हुई है। ज्यादातर देशों में यातायात बंद है। इस वायरस का सबसे ज्यादा असर हवाई यात्रा (air travel ) पर पड़ा है। यही वजह है कि लोग अब परेशान हो गए हैं। बाहर निकलना चाहते हैं, दुनिया घूमना चाहते हैं लेकिन कोरोना (Coronavirus) के चलते ऐसा नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे में लोगों को हवाई यात्रा का एहसास (air travel without flying) कराने के लिए ताइवान में फेक फ्लाइट(Fake Flight) प्रोग्राम शुरू हुआ है।

मासूम के शव से लिपटकर घंटों रोता रहा बेबस पिता, डॉक्टर्स की लापरवाही से हुई मौत

ताइपे के सोंगशान एयरपोर्ट (Songshan Airport in Taipei) पर बीते गुरुवार को 60 लोगों ने इसका अनुभव लिया। प्रोग्राम में शामिल होने वाले लोगों को एयरपोर्ट (Airport ) पर जाकर चेक इन करना होगा, पासपोर्ट और सुरक्षा जांच के बाद बोर्डिंग पास जारी होगा। इसके बाद प्लेन में बैठ सकते हैं।

इस फेक फ्लाइट में भी बैठने के लिए असली हवाई यात्रा कि तरह एयरपोर्ट (Airport ) पर जाकर चेक इन करना होगा, फिर पासपोर्ट और सुरक्षा जांच की जाएगी इसके बाद बोर्डिंग पास जारी होगा। प्लेन में बैठने के बाद एकदम फ़्लाइट जैसा ही माहौल मिलेगा। कैप्टन से लेकर एयर होस्टेस (Flight attendant ) सब लोग इस फ़्लाइट में मौजूद होंगे।

7 साल पहले ही आ चुका था Corona, जानें China ने कैसे किया पूरी दुनिया को गुमराह ?

इतना ही नहीं असल यात्रा के दौरान जैसे प्लेन के अंदर ब्रेकफ़ास्ट मिलता है वो भी सुविधा आपको मिलेगी। प्लेन के लोगों से बातचीत और उनकी मदद के लिए अटैंडेंट्स (Flight attendant )होंगे। लेकिन ये प्लेन उडान नहीं भरेगी।

एयरबस ए-330 नाम के इस प्लेन में में बैठने के लिए हेल्थ सर्टिफिकेट जरूरी है। यह प्रोग्राम जुलाई माह के लिए शुरू किया गया है। इसके लिए स्थानीय और लॉकडाउन से देश में फंसे करीब 7 हजार पर्यटकों ने आवेदन किया है। जिसमें से 60 लोगों को चुना गया था। इस प्रोग्राम में ड्रा के आधार पर ही लोगों को शामिल किया जाता है।

PM मोदी गुरु पूर्णिमा पर देंगे वीडियो संदेश, राष्ट्रपति करेंगे 'धर्म चक्र दिवस' का उद्घाटन

वहीं ताइवान में कोरोना के हाल की बात करें तो इस छोटे से देश में अब तक 449 मामले ही सामने आए हैं। वहीं 7 लोगों की मौत हुई है। ताइवान ने कोरोना संक्रमण के लिए जो उपाय अपनाए थे वो बेहद कारगर साबित हुए हैं। यही वजह है कि चीन के बेहद करीब होने के बाद भी इस देश में कोरोना के बहुत कम मामले सामने आए।

 
Vivhav Shukla
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned