देश 5 विचित्र परंपराएं जिन्हें जानकर आप हैरान रह जाएंगे

  • सिर पर नारियल फोड़ना
  • बारिश के लिए मेंढक की शादी
  • जूठन पर लेटते लोग

Shiwani Singh

28 Aug 2019, 11:09 AM IST

नई दिल्ली। हमारा देश गांवों से लेकर शहरों में बसता है। हमारे देश में तरह-तरह की संस्कृतियां हैं, जिनकी जड़ें गहरी हैं। देश में तरह-तरह के त्योहारों और परंपराओं के बीच कुछ एक ऐसी प्रथाएं भी हैं जो बहुत ही असाधारण हैं। तब भी लोग अपनी जिंदगी को खतरे में डालकर इन्हें पूरी निष्ठा से निभाते हैं। आज हम आपको देश की ऐसी 5 विचित्र परंपराओं के बारे में बताते हैं जिन्हें जानकर आप चौंक जाएंगे-

यह भी पढ़ें-5 ऐतिहासिक खजाने जिनके बारे में जानकारी तो हैं लेकिन ये आज तक नहीं मिले

1.सिर पर नारियल फोड़ना

nariyal_fudwana1_3821749_835x547-m.jpg

अच्छे स्वास्थ्य और सफलता के लिए आप क्या करेंगे? क्या आप एक पुजारी को अपने सिर पर नारियल फोड़ने देंगे? शायद ऩही! लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी की तमिलनाडु के एक दूरदराज के गांव में ऐसी मान्यता है कि सिर पर नारियल फोड़ने से देवता प्रसन्न होंगे और कस्बों को समृद्धि और कल्याण की ओर ले जाएंगे। डॉक्टरों ने इसे ना करने की चेतावनी दी है, लेकिन इसके बावजूद इस परंपरा का स्थानीय लोग बहुत निष्ठा के साथ पालन करते हैं।

2. मेंढक की शादी

forge.jpeg

आपने देश में पेड़ से शादी करने वाले लोगों के बारे में सुना होगा। लेकिन कभी मेंढक की शादी के बारे में सुना है?। चलिए हम आपको इसके बारे में बताते हैं। दरअसल,असम के जोरहाट जिले के एक गांव के लोगों का मानना है अगर पारंपरिक हिंदू रीति रिवाज से जंगली मेंढकों की शादी कराई जाती है तो इंद्र देवता प्रसन्न होते हैं और बारिश होती है।

3.हवा में टंगे लोग

 

1541590967_elavoor_thookkam.jpg

भक्त देवी-देवताओं के प्रसन्न करने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं। कभी-कभी उनकी भक्ति विचित्र मोड़ ले लेती है। ऐसी ही एक परंपरा केरल के एक काली मंदिर में है। ऐसी मान्यता है कि चील को खून की प्यास बुझाने के लिए काली के पास लाया गया था। जिसके बाद से यहां किंवदंती प्रतियोगिता होती है। इसमें लोग अनुष्ठान नृत्य करते हैं। फिर अपनी पीठ पर हुक लगाते हैं और काली को प्रसन्न करने के लिए खुद को चील की तरह हवा में टांगते हैं।

4. जूठन पर लेटते लोग

 

sc-story_647_120415115417.jpg
IMAGE CREDIT: scrolldroll.com

देश में अभी भी जातिवाद है, जो लंबे समय से कायम है। ये हमारे लिए दुख की बात है। इस सामाजिक बुराई से संबंधित एक परंपरा है जिसे मेड मेड स्नान कहा जाता है। यह कर्नाटक के कुछ मंदिरों में प्रचलित है। इसमें कथित निचली जातियों से जुड़े लोग कथित ऊंची जाति के लोगों की जूठन पर लेटते हैं।

5. विषम वस्तुओं और प्राणियों से विवाह

2016_1image_13_42_077300000159129-22-ll.jpg
IMAGE CREDIT: scrolldroll.com

हमारे देश में ज्यादातर देखा गया है कि किसी समस्या के समाधान के लिए विषम वस्तुओं और प्राणियों से विवाह कराया जाता है। भारत में कुछ ऐसी जगहें हैं जहां ऐसी मान्यता है कि अगर कोई लड़की चेहरे की विकृति के साथ पैदा होती है तो उसे भूतों के साथ रखा जाता है। इस समस्या से निजात पाने के लिए लड़की की शादी जानवर से करनी होती है। अगर एक बार ऐसा हुआ तो तो वह एक लड़के से शादी करने के लिए स्वतंत्र है।

 

Shivani Singh Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned